MPPSC एग्जाम दो महीने आगे बढ़ी: कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा 2020 अब 20 जून को होगी, पहले 11 अप्रैल को होना था पेपर

  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Due To The Increasing Cases Of Corona, The State Service Preliminary Examination 2020 Will Now Be On June 20, The Paper Was Earlier To Be Held On April 11.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इंदौर11 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग की राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा 2020 को आगे बढ़ा दिया गया है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए अब यह प्रारंभिक परीक्षा 20 जून को आयोजित की जाएगी। परीक्षा नियंत्रक ने बताया कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। इसके चलते यह फैसला लेना पड़ा है। पहले यह परीक्षा 11 अप्रैल को होनी थी। प्रस्तावित 20 जून की तिथि संभावित है। गौरतलब है, मध्यप्रदेश में पिछले दिनों से दो हजार से ज्यादा कोरोना केसेस रोजाना नए आ रहे हैं। इनमें इंदौर और भोपाल जैसे शहरों में 500 से 600 केस तक आ रहे हैं।

अभ्यर्थियों को कल से ही आने वाले थे SMS

अभ्यर्थियों को परीक्षा शहर की जानकारी SMS के जरिए परीक्षा तिथि से 10 दिन पहले देने की तैयारी थी। इससे पहले सरकार ने लाॅकडाउन को सख्त कर दिया। साथ ही, महाराष्ट्र समेत बाहर से आने वाले लोगों के लिए भी सख्ती बढ़ा दी है। ऐसे में आने वाली कठिनाइयों को देखते हुए 11 अप्रैल की परीक्षा को आगे बढ़ाने का फैसला लिया गया।

3 लाख अभ्यर्थी होने वाले थे शामिल

11 अप्रैल को होने वाली प्री परीक्षा में 3 लाख 44 हजार अभ्यर्थी शामिल होने वाले थे। इसे लेकर इंदौर में 99 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। यहां करीब 39 हजार परीक्षार्थी एक्जाम देने वाले थे। बता दें कि कोरोना के कारण परीक्षा को पहले ही निरस्त करने की मांग उठ रही थी। सबसे पहले 22 मार्च को अभ्यर्थियों ने पीएससी प्रबंधन और मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपकर एक्जाम आगे बढ़ाने की मांग की थी। कुल 260 पदों के लिए परीक्षा होना है। पीएससी ने शासन से भी चर्चा की थी। कहा था कि कोरोना के बढ़ते संकट और बढ़ती पाबंदियों के बीच इतनी बड़ी एक्जाम संभव नहीं दिख रही।

21 से 26 मार्च तक हुई थी मुख्य परीक्षा
इसी माह 21 से 26 मार्च तक एमपी पीएससी (मध्यप्रदेश लोकसेवा आयोग) की राज्य सेवा मुख्य परीक्षा 2019 हुई थी। लॉकडाउन के बीच इंदौर के 13 सेंटर पर ये परीक्षा हुई थी। इंदौर में 5197 अभ्यर्थियों को शामिल होना था। 148 अनुपस्थित रहे। कुल 5049 ने परीक्षा दी। प्रदेश में आठ शहरों में 29 सेंटर बनाए गए थे। प्रदेशभर में कुल 10 हज़ार 91 अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी थी। कुल उपस्थिति 96 फीसदी रही थी। इंदौर में ओल्ड जीडीसी सेंटर पर चार कोविड पॉजिटिव अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी थी।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest News