UGC NET 2021: कर रहे हैं यूजीसी नेट की तैयारी, तो जरूर जानें एग्जाम पैटर्न और सिलेबस

UGC NET Exam Tips: National Testing Agency (NTA) ने एक बार फिर से यूजीसी नेट (UGC NET) की परीक्षा को स्‍थगित कर दिया है। यह परीक्षा 17 अक्टूबर से 25 अक्टूबर के बीच होने वाला था। इसबार परीक्षा के तिथियों में बदलाव कई अन्‍य परीक्षा तिथियों के साथ टकराव के कारण हुआ है। हालांकि उम्‍मीद की जा रही है कि इसी माह फिर से परीक्षा के तारीखों की घोषणा की जाएगी। इसलिए उम्मीदवार लापरवाही बिल्कुल भी न करें। तैयारी के लिए परीक्षा का पैटर्न और सिलेबस का जानना भी जरूरी है। यूजीसी पेपर 1 का सिलेबस सभी उम्मीदवारों के लिए एक ही रहता है।

UGC NET परीक्षा पैटर्न (UGC NET Exam Pattern)

  1. UGC NET पेपर-1 सभी उम्मीदवारों के लिए समान और अनिवार्य होता है। पेपर 2 अलग-अलग विषयों के लिए अलग-अलग होता है।
  2. पेपर 1 के UGC NET सिलेबस में 10 यूनिट हैं
  3. प्रत्येक यूनिट से 5 प्रश्न पूछे जाएंगे।
  4. पेपर -1 और पेपर -2 दोनों ऑनलाइन मोड में आयोजित किए जाएंगे।
  5. पेपर -1 और पेपर -2 दोनों में प्रश्न वस्तुनिष्ठ प्रकार के होंगे।
  6. पेपर 1 में 50 प्रश्न होंगे और पेपर 2 में 100 प्रश्न होंगे।
  7. सभी प्रश्न 2 अंक का होंगे


UGC NET सिलेबस (UGC NET Syllabus)
UGC NET के पेपर-1 में उम्मीदवार की शिक्षण और अनुसंधान क्षमता के साथ-साथ उनकी योग्यता का परीक्षण किया जाता है। UGC NET 2021 पेपर-1 का सिलेबस अभ्यर्थियों की संज्ञानात्मक क्षमताओं का परीक्षण करने के लिए डिज़ाइन किया गया है, जिसमें समझने, विश्लेषण करने, मूल्यांकन, तर्क की संरचना समझने, निगमनात्मक और आगमनात्मक तर्क करने की क्षमता शामिल हैं। वहीं UGC NET पेपर- 2 का सिलेबस उम्मीदवार के पसंद के विषय पर केंद्रित होता है। यह पेपर संबंधित विषय में आवेदक के गहन ज्ञान और विशेषज्ञता को मापता है।
इसे भी पढ़ें: SBI SO Exam 2021: अगर देने जा रहे हैं यह परीक्षा, तो जान लें एग्जाम की खास टिप्स

यूनिट- 1 शिक्षण योग्यता

  • शिक्षण- संकल्पना, उद्देश्य, शिक्षण के स्तर (स्मृति, समझ और चिंतनशीलता), विशेषताएं और बुनियादी आवश्यकताएं।
  • शिक्षार्थियों की विशेषताएं- किशोरों और वयस्क शिक्षार्थियों के लक्षण (शैक्षणिक, सामाजिक, भावनात्मक और संज्ञानात्मक), व्यक्तिगत मतभेद।
  • शिक्षक से संबंधित शिक्षण को प्रभावित करने वाले कारक- शिक्षक, शिक्षार्थी, सहायक सामग्री, शिक्षण सुविधाएं, सीखने का वातावरण और संस्था।
  • उच्च शिक्षा के संस्थानों में शिक्षण के तरीके- शिक्षक केंद्रित बनाम शिक्षार्थी केंद्रित तरीके, आंफलाइन बनाम ऑनलाइन विधियां (स्वयंप्रभा, मूक आदि)।
  • शिक्षण सहायता प्रणाली- पारंपरिक, आधुनिक और आईसीटी आधारित।
  • मूल्यांकन प्रणाली- मूल्यांकन के तत्व और प्रकार, उच्च शिक्षा में च्वाइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम में मूल्यांकन, कंप्यूटर आधारित परीक्षण, मूल्यांकन प्रणालियों में नवाचार।

यूनिट- 2 अनुसंधान योग्यता

  • अनुसंधान- अर्थ, प्रकार और विशेषताएं, अनुसंधान के लिए निष्पक्षवाद और उत्तर-निष्पक्ष वादी दृष्टिकोण।
  • अनुसंधान के तरीके- प्रायोगिक, वर्णनात्मक, ऐतिहासिक, गुणात्मक और मात्रात्मक तरीके।
  • थीसिस और लेख लेखन- संदर्भित करने का प्रारूप और शैली, अनुसंधान में आईसीटी के अनुप्रयोग, अनुसंधान नैतिकता।

यूनिट- 3 कॉम्प्रिहेंशन
एक पैसेज दिया जाएगा, पूछे गए प्रश्न का उत्तर उसी पैसेज से दिया जाना है।

यूनिट- 4 कम्युनिकेशन

  • संचार- संचार के अर्थ, प्रकार और विशेषताएं।
  • प्रभावी संचार- मौखिक और गैर-मौखिक, अंतर-सांस्कृतिक और समूह संचार, कक्षा संचार, प्रभावी संचार की बाधाएं।
  • मास- मीडिया और समाज।

यूनिट- 6 गणितीय तर्क और योग्यता

  • रीजनिंग के प्रकार, नंबर सीरीज, लेटर सीरीज़, कोड व संबंध।
  • गणितीय योग्यता (अंश, समय और दूरी, अनुपात, हिस्सा और प्रतिशत, लाभ और हानि, ब्याज और छूट, लाभ आदि)।

यूनिट- 7 डाटा इंटरप्रिटेशन

  • डेटा के स्रोत, अधिग्रहण और वर्गीकरण।
  • मात्रात्मक और गुणात्मक डेटा।
  • ग्राफ में प्रस्तुतीकरण (बार-चार्ट, हिस्टोग्राम, पाई-चार्ट, टेबल-चार्ट और लाइन-चार्ट) और डेटा की मैपिंग।
  • डाटा इंटरप्रिटेशन, डाटा और गवर्नेंस

इसे भी पढ़ें: SSC Stenographer Exam: परीक्षा के पैटर्न और सिलेबस के साथ जानें एग्जाम टिप्स, मिलेगी मदद

यूनिट- 8 सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी)

  • आईसीटी- सामान्य शब्द संक्षेप और शब्दावली।
  • इंटरनेट, इंट्रानेट, ई-मेल, ऑडियो और वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग की मूल बातें।
  • उच्च शिक्षा में डिजिटल पहल, आईसीटी और शासन।

यूनिट- 9 लोग, विकास और पर्यावरण

  • विकास और पर्यावरण: सहस्त्राब्दी विकास और सतत विकास लक्ष्य।
  • मानव और पर्यावरण सहभागिता- मानवजनित गतिविधियां और पर्यावरण पर उनके प्रभाव।
  • पर्यावरण के मुद्दे: स्थानीय, क्षेत्रीय और वैश्विक, वायु प्रदूषण, जल प्रदूषण, मृदा प्रदूषण, शोर प्रदूषण, अपशिष्ट, जलवायु परिवर्तन और इसके सामाजिक-आर्थिक और राजनीतिक आयाम।
  • मानव स्वास्थ्य पर प्रदूषकों के प्रभाव।
  • प्राकृतिक और ऊर्जा संसाधन- सौर, पवन, मृदा, जल, भूतापीय, बायोमास, परमाणु और वन।1
  • प्राकृतिक खतरे और आपदाएं- शमन की रणनीतियां।
  • पर्यावरण संरक्षण अधिनियम (1986), जलवायु परिवर्तन पर राष्ट्रीय कार्य योजना, अंतर्राष्ट्रीय समझौते, रियो शिखर सम्मेलन, जैव विविधता पर सम्मेलन, क्योटो प्रोटोकॉल, पेरिस समझौता, अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन।

यूनिट-10 उच्च शिक्षा प्रणाली

  • प्राचीन भारत में उच्च शिक्षा और शिक्षा के संस्थान।
  • स्वतंत्रता के बाद के भारत में उच्च शिक्षा और अनुसंधान का विकास।
  • भारत में ओरिएंटल, पारंपरिक और गैर-पारंपरिक शिक्षण कार्यक्रम।
  • व्यावसायिक, तकनीकी और कौशल आधारित शिक्षा।
  • मूल्य शिक्षा और पर्यावरण शिक्षा।
  • नीतियां, शासन और प्रशासन।

पेपर 2 का सिलेबस

  • UGC NET पेपर 2 उम्मीदवार द्वारा चुने गए विषय पर आधारित होगा।
  • कुल 81 विषयों के विकल्प UGC द्वारा प्रदान किए गए हैं।
  • उम्मीदवार को इन 81 विषयों में से एक विषय चुनना होगा।
  • पेपर -2 में केवल वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न (MCQ) शामिल होंगे।
  • पेपर 2 के लिए विस्तृत UGC NET 2021 पाठ्यक्रम आधिकारिक वेबसाइट पर प्रदान किया गया है।
RELATED ARTICLES

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Latest News