Top Courses In Abroad: करना चाहते हैं विदेश में पढ़ाई? जानें इन टॉप कोर्सेस के बारे में

हाइलाइट्स:

  • यहां जानें विदेश से कौन-सा कोर्स करना रहेगा बेहतर
  • MBA के अलावा भी होते हैं कई ऑप्शन
  • जॉब लगते ही मिलती है अच्छी सैलरी

Top 5 Courses In Abroad: वैश्विक शिक्षा की मांग इन दिनों बढ़ रही है। हर साल, लाखों भारतीय छात्र विदेशों में अध्ययन करने की संभावना पर विचार करते हैं और अपनी रुचि अनुसार कोर्स ढूंढने के लिए कई विश्वविद्यालयों में सर्च हैं। महामारी के बाद, छात्रों के लिए अपने करियर को सावधानीपूर्वक तैयार करना अब पहले से कहीं अधिक महत्वपूर्ण हो गया है। सही शिक्षा एक सफल करियर की ओर पहला कदम है।
यदि आपने विदेश में उच्च शिक्षा प्राप्त करने का मन बना लिया है, तो पढ़ें इन 5 पाठ्यक्रमों के बारे में। ये लोकप्रिय पाठ्यक्रम आपके करियर में शानदार वेतन पैकेज पाने में मदद करते हैं। ये पाठ्यक्रम मुख्य रूप से यूएस, यूके, आयरलैंड, कनाडा, जर्मनी और ऑस्ट्रेलिया के विश्वविद्यालयों में पढ़ाए जाते हैं।

मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (Master of Business Administration)
प्रत्येक बिजनेस स्टूडेंट ‘एमबीए’ कहलाने की इच्छा रखता है। यह पाठ्यक्रम एक व्यक्ति को विविध टीमों के साथ काम करने और विभिन्न देशों की लीडरशिप एक्स्पेक्टेशंस को समझने की क्षमता प्रदान करता है। यह किसी व्यक्ति की विभिन्न व्यावसायिक शैलियों को बढ़ाने में भी मदद करता है, जो बदले में उसके लीडरशिप स्किल को बढ़ाता है। इंटर कल्चरल कम्यूनिकेशन स्किल और इंटरनेशनल एक्सपीरियंस देश-विदेश में अच्छी नौकरी की तलाश करने वाले भारतीय स्टूडेंट्स के काम आ सकता है।

कंप्यूटर साइंस में मास्टर्स (Masters in Computer Science)
डिजिटल क्रांति के रुकने के कोई संकेत नहीं दिखने के साथ, कंप्यूटर साइंस में मास्टर डिग्री कई रोमांचक अवसरों की चाबी है। पाठ्यक्रम में सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग, प्राकृतिक गणना, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस और भी बहुत कुछ शामिल हैं। उदाहरण के लिए, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस में रुचि एक छात्र को सीखने और मशीन और ड्रोन बनाने में मदद कर सकती है। निस्संदेह, कंप्यूटर विज्ञान के उपयोग ने बिजनेस को नई ऊंचाइयों तक पहुंचने में मदद की है। और इसके माध्यम से आप अपने करियर को नई ऊंचाइयों तक ले जा सकते हैं।
इसे भी पढ़ें: Career After MBA: अच्छी सैलरी के साथ MBA के बाद मिलते हैं कई करियर ऑप्शन

डाटा साइंस में मास्टर्स (Masters in Data Science)
ज्यादातर बिजनेस डेटा द्वारा संचालित होते हैं। बैंकिंग और फाइनांस, इंटरटेनमेंट या हेल्थकेयर हो, इन सभी को क्रियाशील रहने के लिए डेटा की आवश्यकता होती है। ये काम डेटा वैज्ञानिक करते हैं, जो आज पहले से कहीं अधिक महत्व रखते हैं। वे रणनीतिक निर्णय लेकर व्यवसायों के परिणामों को अनुकूलित करने में मदद करते हैं। डेटा साइंस में मास्टर डिग्री करने वाले छात्र विभिन्न विषयों जैसे एप्लाइड स्टैटिस्टिक्स, डेटा माइनिंग, डेटाबेस मैनेजमेंट आदि के बारे में पढ़ते हैं। वैसे छात्र जो अपने नॉलेज को और ज्यादा बढ़ाना चाहते हैं उनके लिए एसक्यूएल या पायथन जैसी प्रोग्रामिंग भाषाएं भी कोर्स में हैं।

साइबर सिक्युरिटी में मास्टर्स (Masters in Cyber Security)
वर्षों से, साइबर धोखाधड़ी एक प्रमुख चिंता का विषय रहा है और महामारी ने स्थिति को और खराब कर दिया है क्योंकि दुर्भावनापूर्ण हमलावर डेवलप स्कैम के साथ सामने आ रहे हैं। कहने की जरूरत नहीं है कि दुनिया को इससे प्रभावी ढंग से निपटने के लिए और अधिक साइबर सुरक्षा विशेषज्ञों की जरूरत है। साइबर सुरक्षा में मास्टर्स करने वाले छात्र साइबर डिफेंस, इंफार्मेशन एस्योरेंस फंडामेंटल सहित और बहुत कुछ सीखते हैं, जो उन्हें हैकर्स से एक कदम आगे रहना सिखाता है। इस कोर्स को करने के बाद युवा प्रोफेशनल्स का भविष्य उज्जवल हो सकता है।
इसे भी पढ़ें: Liberal Arts: लिबरल आर्ट्स में क्यों बनायें करियर? डिग्री के बाद मिलते हैं ये जॉब्स, हाई सैलरी

कंस्ट्रक्शन प्रोजेक्ट मैनेजमेंट ट्रांजिशन में मास्टर्स (Masters in Construction Project Management Transition)
निर्माण परियोजना प्रबंधन में एमएस एक व्यक्ति को शुरू से अंत तक एक प्रोजेक्ट की प्लानिंग, कॉर्डिनेशन, बजट और सुपरवाइज करना सिखाता है। पाठ्यक्रम कॉन्ट्रैक्ट मैनेजमेंट, रिस्क मैनेजमेंट, पर्यावरण मूल्यांकन और अधिक जैसे विभिन्न विषयों में अंतर्दृष्टि प्रदान करता है, जो छात्रों को डायनेमिक कंस्ट्रक्शन इंडस्ट्री के लिए अच्छी तरह से तैयार करता है। इस डिग्री के साथ, एक पेशेवर विभिन्न परियोजनाओं पर काम कर सकता है जो कमर्शियल, रेजिडेंशियल और एग्रीकल्चर इंडस्ट्रीज से संबंधित हैं।

RELATED ARTICLES

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Latest News