PM Modi ने लॉन्च किया क्रैश कोर्स, 1 लाख कोविड वॉरियर्स होंगे तैयार, स्टाइपेंड से साथ मिलेगी ये सुविधाएं

हाइलाइट्स:

  • पीएम मोदी ने लॉन्च किया क्रैश प्रोग्राम कोर्स।
  • कोरोना से जंग के तैयार होंगे 1 लाख कोविड वॉरियर्स।
  • 26 राज्यों में चलेंगे 100 से ज्यादा सेंटर्स।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने शुक्रवार (18 जून 2021) को 1 लाख ‘कोविड वॉरियर्स’ तैयार करने के लिए क्रैश कोर्स प्राग्राम (crash course programme) लॉन्च किया है। यह कोर्स कोविड-19 फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए शुरू किया जाएगा। पीएम मोदी ने एक वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से कस्टमाइज्ड क्रैश कोर्स की सूचना दी है, जिसका उद्देश्य “कोविड वॉरियर्स” को स्किल और अपस्किल किया जाएगा।

पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से कहा कि, “वायरस अभी भी हमारे बीच है और इसके बदलते रहने की संभावना भी है। उन्होंने इस स्थिति में क्रैश कोर्स करने वाले फ्रंटलाइन वर्करों को शुभकामनाएं दी और आशा जताई कि नॉन-मेडिकल फील्ड से होने के बावजूद भी इस कोर्स के जरिए वे हेल्थकेयर वर्करों के साथ खड़े होंगे। उन्होंने आगे कहा कि केंद्र सरकार 21 जून से सभी को मुफ्त में कोविड टीकाकरण उपलब्ध कराएगी।”

ये हैं 06 क्रैश कोर्स प्रोग्राम
पीएम मोदी ने स्किल इंडिया के तहत कोविड-19 फ्रंटलाइन वर्कर्स (COVID19 frontline workers) के लिए 06 कस्टमाइज्ड क्रैश कोर्स प्रोग्राम लॉन्च किए। इन मॉड्यूल में होम केयर सपोर्ट, बेसिक केयर सपोर्ट, एडवांस्ड केयर सपोर्ट, इमरजेंसी केयर सपोर्ट, सैंपल कलेक्शन सपोर्ट और मेडिकल इक्विपमेंट सपोर्ट शामिल हैं। ट्रेनिंग के बाद ये वर्कर्स, कोविड-19 संक्रमितों के लिए डॉक्टरों की सहायता करेंगे।

26 राज्यों में 100 से ज्यादा सेंटर्स पर होंगे कोर्स
पीएम मोदी ने कहा, ‘हम देश में 1 लाख फ्रंटलाइन वर्कर्स तैयार करने की दिशा में काम कर रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि यह प्रोग्राम देश के 26 राज्यों के 111 ट्रेनिंग सेटर्स पर चलाया जाएगा। कोविड वर्कर्स के लिए क्रैश कोर्स के शुभारंभ के दौरान केंद्रीय कौशल विकास और उद्यमिता मंत्री भी उपस्थित थे।

ये भी पढ़ें: MP D.El.Ed Exam 2021: मध्य प्रदेश डीएलएड परीक्षा की जरूरी तारीखें घोषित, जानें कब शुरू होंगे रजिस्ट्रेशन

ट्रेनिंग के साथ मिलेगा स्टाइपेंड, दुर्घटना बीमा और ये सुविधा
देश में करीब 1 लाख युवाओं को ट्रेनिंग देने के लिए क्रैश कोर्स प्रोग्राम 2 से 3 महीने में पूरा किया जा सकता है। ट्रेनिंग के दौरान उम्मीदवारों को निःशुल्क ट्रेनिंग, स्किल इंडिया का सर्टिफिकेट, खाना और रहने की सुविधा के साथ स्टाइपेंड एवं प्रमाणित उम्मीदवारों को 2 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा प्राप्त होगा।

ये भी पढ़ें: UKSSSC Jobs 2021: पटवारी और लेखपाल की 500 से ज्यादा वैकेंसी, सैलरी 92300 रुपये तक, ये रही डीटेल्स

RELATED ARTICLES

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Latest News