IFS Exam Preparation Tips: इंडियन फॉरेन सर्विस एग्जाम की तैयारी, अपनाएं ये आसान टिप्स

हाइलाइट्स:

  • IFS के एग्जाम की तैयारी से पहले जरूर अपनाएं ये टिप्स
  • स्टडी मटेरियल पर दें पूरा ध्यान
  • जानें कैसे कर सकते हैं एग्जाम के लिए सेक्शन वाइज तैयारी

IFS Exam Preparation Tips: संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा आयोजित, यूपीएससी आईएफएस परीक्षा भारत सरकार के फॉरेन डिपार्टमेंट के लिए काम करने के इच्छुक उम्मीदवारों के लिए आयोजित की जाती है। यह एह राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है। यह परीक्षा हर साल लाखों कैंडिडेट देते है। पहले राउंड में सफल उम्मीदवार UPSC IFS चयन प्रक्रिया के अगले दौर के लिए पात्र हो जाते हैं, जो कि मेन्स परीक्षा है। इस परीक्षा की तैयारी सुनियोजित और रणनीति बनाकर की जानी चाहिए। इसके लिए कैंडिडेट को पहले यूपीएससी आईएफएस परीक्षा के पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न के बारे में पूरी तरह से जाना जरूरी है और फिर स्ट्रैटजी बना कर तैयारी शुरू करनी चाहिए।

UPSC IFS 2021 के लिए सामान्य टिप्स और ट्रिक्स-अपने एग्जाम सिलेबस को जानें
यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण है जिसे प्रत्येक परीक्षार्थी को समझना और अपनाना जरूरी है। यदि आप UPSC IFS परीक्षा के सिलेबस के बारे में नहीं जानते हैं तो आप परीक्षा की तैयारी बेहतर तरीके से नहीं कर पाएंगे। इसलिए, विशेषज्ञ सलाह देते हैं कि पहले UPSC IFS 2021 के पूरे सिलेबस को देखें और फिर उसके अनुसार तैयारी की रणनीति बनाएं। यदि आप पाठ्यक्रम के बारे में जानते हैं तो आप अपनी क्षमता और रुचि के अनुसार कमजोर और मजबूत सेक्शन की पहचान कर पाएंगे।

एक स्टडी प्लान बनाएं
एक परीक्षार्थी के रूप में आपको पहले एक स्टडी प्लान बनानी चाहिए ताकि सभी महत्वपूर्ण सेक्शन और सब्जेक्ट्स को अच्छी तरह से कवर किया जा सके। एक स्टडी प्लान बनाना बहुत जरूरी है लेकिन इससे भी अधिक महत्वपूर्ण है स्टडी प्लान को फॉलो करना। अपनी स्टडी प्लान को ईमानदारी के साथ फॉलो करें तभी उसके सकारात्मक परिणाम मिलेंगे।
इसे भी पढ़ें: Career After English Literature: इंग्लिश लिटरेचर के बाद ये हैं बेहतरीन करियर ऑप्शन, कर सकते हैं ट्राई

एक टाइम टेबल तैयार करें
टाइम-टेबल आपके द्वारा बनाई गई स्टडी प्लान से जुड़ा होता है। यह आपके स्टडी मेटेरियल्स के सेक्शन के अनुसार अपना समय तय करने में आपकी मदद करेगा। एक प्रभावी टाइम टेबल से आपको अपनी डेली रूटीन को व्यवस्थित और संरचित तरीके से विभाजित करने में भी मदद करेगी जिससे विषयों को कवर किया जा सके। आप अपने टाइम-टेबल अलग-अलग हिस्से में बांट सकते हैं। पहले आधे हिस्से को उन विषयों के लिए रखें जिन्हें समझने की तुलना में अधिक याद किया जा सकता है और अपने टाइम-टेबल के दूसरे भाग में ठीक उल्टा कर सकते हैं यानी याद करने की तुलना में समझने वाले विषयों को रखें।

लगातार पढ़ाई करें
UPSC IFS 2021 प्रवेश परीक्षा को क्रैक करने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है लगातार बेहतर तरीके से पढ़ाई करना है। स्थिर और लगातार बने रहने से आपकी याददाश्त तेज होगी क्योंकि आप उन चीजों को आसानी से नहीं भूल पाएंगे जिनका आप अध्ययन करते हैं। UPSC IFS के पिछले वर्ष के क्वेश्चन पेपर को सॉल्व करें इससे आपकी प्रैक्टिस अच्छी होगी। इसे निरंतर करने के लिए आपको रिवीजन के लिए एक सेक्शन या टाइम स्लॉट रखना चाहिए। यह भी सलाह दी जाती है कि अपनी तैयारी के दौरान बड़े गैप न लें। याद रखें कि निरंतर प्रयास सर्वोत्तम परिणाम देते हैं।

हमेशा अपनी गलतियों को समझें
प्रवेश परीक्षा की तैयारी के लिए अपनी गलतियों पर नज़र रखना महत्वपूर्ण है। यदि आप अपनी गलतियों को समझने के लिए समय निकालते हैं, कि आपने कोई विशेष गलती क्यों की और भविष्य में इससे बचने के लिए आपको क्या करना चाहिए तो, आपको परीक्षा में अच्छे अंक मिलने की गारंटी है।

आप अपने प्रॉबल्म एरिया और उन सेक्शन के बारे में जानने के लिए UPSC IFS मॉक टेस्ट दे सकते हैं जहां आपसे गलतियां होने की अधिक संभावना है। यह न केवल आपकी गलतियों को पहचानने में आपकी मदद करेगा बल्कि आपके कमजोर सेक्शन को भी उजागर करेगा जिन पर अधिक ध्यान दिया जाना है। आपकी गलतियां परीक्षा के डिफिकल्टीज लेवल से निपटने में भी आपकी मदद करेंगी।
इसे भी पढ़ें: NDA Exam Preparation: 12वीं के बाद डिफेंस में जाने के लिए दें एनडीए एग्जाम, ये हैं तैयारी के ट्रिक्स

तनाव में न रहें
जब यूपीएससी आईएफएस जैसे प्रवेश परीक्षा के लिए तैयार होने की बात आती है, तो आपको परीक्षा के बारे में तनाव लेने से बचने की कोशिश करनी चाहिए। परीक्षा के समय खुद को स्वस्थ और फिट रखें। यह आपको तनावमुक्त रहने में मदद करेगा। अपने आप को शांत रखें और कड़ी मेहनत से अध्ययन करें। प्रवेश परीक्षा में सफल होने की पूरी कोशिश करें और यह तभी संभव है जब आप सभी प्रकार के तनाव, घबराहट और चिंता से मुक्त हों। ध्यान के अलावा तनाव मुक्त होने का एक प्रभावी तरीका है अपने पसंदीदा गाने सुनना। इन तरकीबों को आजमाएं जब तक आप चयनित नहीं हो जाते।

UPSC IFS 2021 परीक्षा के लिए सेक्शन वाइज प्रिपरेशन प्लान
General Studies/General Knowledge

  • इस सेक्शन के लिए दो घंटे में का समय होता है, लेकिन परीक्षार्थियों को पूरे पेपर को समान समय में विभाजित करना चाहिए ताकि अधिक से अधिक प्रश्नों को हल कर सकें।
  • अधिक संख्या में प्रश्नों को हल करने के लिए उम्मीदवारों को प्रश्नों के क्विकली हल करना जरूरी है।
  • यूपीएससी परीक्षा की तैयारी के लिए बेस्ट पुस्तकों की मदद लें। ऐसी कई पत्रिकाएं हैं जो इस संबंध में एक प्लस पॉइंट साबित हो सकती हैं।
  • समाचार पत्र पढ़ना और करंट अफेयर्स से रूबरू होना यूपीएससी उम्मीदवारों के लिए जरूरी है। उम्मीदवार अपने पसंदीदा समाचार पत्र डेली बेसिस पर पढ़ सकते हैं।
  • करंट अफेयर्स पर नॉलेज के लिए उम्मीदवार अपने पंसदीदा समाचार चैनल पर भी स्विच कर सकते हैं और नियमित रूप से इसका अनुसरण कर सकते हैं।
  • पेपर- I के लिए, उम्मीदवारों को भारत और उसके भूगोल, भारत और उसके इतिहास, भारतीय राजनीति और शासन और पर्यावरण विज्ञान पर विशेष ध्यान देना चाहिए।
  • पेपर- II के लिए, उम्मीदवारों को निर्णय लेने और समस्या समाधान, तार्किक तर्क और पारस्परिक कौशल पर अधिक ध्यान देना चाहिए।
  • पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों को हल करने से भी उम्मीदवारों को उनकी तैयारी में मदद मिल सकती है क्योंकि यह परीक्षा पैटर्न को विस्तृत तरीके से जानने में भी मदद करता है।

सामान्यअंग्रेजी

  • परीक्षा के इस भाग के विभिन्न सेक्शन पर अलग-अलग तरीकों से ध्यान देने की जरूरत है।
  • यह महत्वपूर्ण है कि उम्मीदवार अपने विषय से जुड़े वर्तमान मुद्दों और मामलों से अवगत हों। दिए गए विषय पर निबंध लिखते समय इस जानकारी का उपयोग किया जा सकता है।
  • निबंध लिखते समय, परीक्षार्थियों को नकारात्मक छवि या दिए गए विषय के बुरे पक्ष को चित्रित नहीं करने का प्रयास करना चाहिए।
  • परीक्षार्थियों को यह याद रखना चाहिए कि विषय के गलत पक्ष को दर्शाने के बजाय निबंध को सकारात्मक रूप से समाप्त करना चाहिए। प्रासंगिक और संबंधित उदाहरणों को प्रस्तुत करना निबंध सेक्शन के लिए एक प्लस पॉइंट साबित हो सकता है।
  • यदि उम्मीदवार अंग्रेजी भाषा से अच्छी तरह वाकिफ हैं और व्याकरण अच्छी तरह से जानते हैं तो इस पेपर के अन्य सेक्शन में भी बेहतर कर सकते हैं।
  • इसके लिए उम्मीदवारों को अच्छी किताबों की मदद लेनी चाहिए जो उपयुक्त उदाहरणों के साथ व्याकरण के हिस्से को अच्छी तरह से समझाती हैं, ताकि विषयों को समझना और आसान हो सके।
  • नियमित आधार पर सैंपल पेपर को हल करने से उम्मीदवारों को प्रश्न के प्रकार और शैली को जानने में मदद मिल सकती है।
  • उम्मीदवार क्वेश्चन पेपर या सैंपल पेपर को हल करने के लिए लगने वाले समय का भी ध्यान रख सकते हैं और जरूरत अनुसार लगातार प्रयास से अपनी स्पीड में सुधार कर सकते हैं।
RELATED ARTICLES

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Latest News