English Tips: प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए कैसे करें इंग्लिश की तैयारी, यहां जानें जरूरी टिप्स

Tips For English Exam Preparation: देश में प्रतिवर्ष कई कॉम्पिटीशन एग्‍जाम का आयोजन किया जाता है, जिसमें पार पाना सबके लिए आसान नहीं होता है। कैट, जीमैट, जीआरई, आईईएलटीएस जैसी परीक्षाओं में कई बार छात्र अन्‍य विषयों में अच्‍छा करने के बाद भी अंग्रेजी विषय में अच्‍छा स्‍कोर नहीं कर पाते। इस आर्टिकल के माध्‍यम से हम आपको कॉम्पिटीशन एग्‍जाम में आने वाले अंग्रेजी का सिलेबस और उसकी तैयारी करने की पूरी जानकारी देंगे।

बातों कारखें ध्‍यान

  1. अंग्रेजी की कहानियां पढ़कर उसका अर्थ निकालना सीखें और उसमें प्रयोग किए गए वोकेब और फिक्स्ड प्रीपोजिशन पर टार्गेट करें।
  2. बेसिक वोकेब्लरी पर ध्‍यान दें और आप करीब 2 से 3 हजार शब्दों को तैयार कर लें जो सामान्य जीवन में लगातार प्रयोग आते हैं।
  3. प्रीपोजिशन पर कम से कम एक हजार सवाल हल करें। इससे अच्छा बेस बनता है।
  4. ग्रामर के चैप्टर्स जैसे सब वर्ब एग्रीमेंट, नाउन, प्रोनाउन से शुरुआत करना अच्छा रहता है।
  5. ग्रामर के प्रत्येक चैप्टर पर ज्यादा से ज्‍यादा सवालों की प्रैक्टिस और कम से कम 3 बार रिवीजन बहुत मददगार होगा।
  6. रीडिंग सेक्शन जैसे पैसेज, क्लोज टेस्ट और पैराजंबल्ड वाक्य का एक-एक सेट रोज प्रैक्टिस करें।

इसे भी पढ़ें: Data Management Skills: डाटा मैनेजमेंट स्किल्स क्‍यों हैं जरूरी? जानें कैसे करें इन्हें इंप्रूव

सिलेबस की ऐसे करें तैयारी
वोकेब्लरी सुधारें
एग्‍जाम के लिए सिलेबस की तैयारी करने समय वोकेब्‍लरी पर विशेष ध्‍यान दें। इसमें सुधार करने के लिए आप डिक्शनरी के माध्‍यम से आप किसी शब्द के समानार्थी और विपरीतार्थी शब्दों को याद और पढ़ सकते हैं। वहीं शब्द सूची बनाने के लिए एक पॉकेट नोटबुक हमेशा रखें और उसमें कुछ शब्दों को प्रतिदिन लिखते रहें। साथ ही अगर आप मोबाइल फ़ोन या टेबलेट इस्तेमाल करते हैं तो आप नि:शुल्क फ़्लैशकार्ड्स को डाउनलोड कर सकते हैं इससे आपको नए शब्दों को सीखने और याद करने में बहुत सहायता मिलेगी।

इंग्लिश ग्रामर को सुधारें
इंग्लिश के प्रश्नों को हल करने के लिए आपको ग्रामर के प्रयोग की सही समझ होनी चाहिए। इस प्रकार के प्रश्न सभी प्रतिस्पर्धात्मक परीक्षाओं में समान होते हैं और अधिकतर प्रश्न त्रुटि ढूँढने के प्रारूप में पूछे जाते हैं। किसी वाक्य में त्रुटि ढूंढना एक क्रमिक प्रक्रिया हैं और इस प्रकार के प्रश्नों को हल करने के लिएए उम्मीदवारों को व्याकरण के नियमों का पालन करना होता हैं।

रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन स्किल्स में सुधार करें
इंग्लिश में आप कुछ दिन पढ़ने के बाद अपनी रीडिंग स्किल्स नहीं सुधार सकते, इसके लिए आपको हर दिन पढ़ने की आदत विकसित करनी होगी। जिससे रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन स्किल्स सुधार सके। अखबार पढना एक अच्छा विकल्प है लेकिन हमेशा कठिन तथ्यों की जानकारियों को ही पढ़ने से हर दिन आपकी पढ़ने की स्किल्स का विकास निर्धारित सीमा से ऊपर नहीं हो सकता। इसलिए बेहतर यह है कि आप फीचर कहानियों, संपादकीय, व्यापार पत्रिकाओं आदि को पढना पसंद करें इससे आपकी कॉम्प्रिहेंशन रीडिंग स्किल्स में भी तेजी से सुधार होगा।
इसे भी पढ़ें: Career After 12th: संस्‍कृत भाषा में हैं कई करियर ऑप्शन, जानें किस कोर्स के बाद मिलेगी अच्छी नौकरी

सेल्फ असेसमेंट
अपने द्वारा सेल्फ असेसमेंट करना आपको ये बता सकता है कि आप कितना सीख पाए हैं। ऐसे में अपनी स्थिती के बारे में सटीक आकलन के लिए सभी को मॉक टेस्ट देते रहने चाहिए और अपने आप में सुधार करना चाहिए। रोजाना अभ्यास से आप सुधार कर सकते हैं और आत्मविश्वास कायम रख सकते हैं।

स्पेलिंग मिस्टेक और सेंटेंस फॉर्मेशन
इंग्लिश सब्जेक्ट की तैयारी के लिए स्पेलिंग मिस्टेक यानी वर्तनी में गलतियां ढूंढने की प्रेक्टिस काफी काम आ सकती है। एक गलत शब्द पूरे वाक्य को खराब कर सकता है। इसी तरह, किसी भी परीक्षा के डिस्क्रिप्टिव पार्ट को लिखते समय सेंटेंस फॉर्च्यून यानी उसकी फॉर्मेशन भी एक महत्वपूर्ण पहलू है। सही वर्ब और टेंस से सेंटेंस भी सही बनता है।

RELATED ARTICLES

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Latest News