College Tips: कॉलेज के पहले दिन इन 8 बातों का रखें ध्‍यान

हाइलाइट्स

  • कॉलेज के पहले दिन अपना कॉन्फिडेंस न खोएं
  • भाषा व व्यवहार का रखें ख्याल
  • यहां जानें कॉलेज शुरु करने से पहले जरूरी टिप्स

College Tips And Advice: दिल्ली के सभी कॉलेजों में एडमिशन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और जल्‍द ही सभी सीटें भर जाएंगी। कोरोना के कारण कई माह बाद खुल रहे इन कॉलेजों में जाने को लेकर स्टूडेंट्स के बीच काफी उत्साह है। साथ ही नए कॉलेज को लेकर सभी स्टूडेंट्स के मन में ढेर सारी उम्मीदों के साथ कुछ सवाल व डर भी हैं। जहां एक ओर अच्छे दोस्त व अच्छे माहौल की उम्मीद सभी स्टूडेंटस कर रहे हैं। तो वहीं दूसरी ओर अनजानी जगह, अनजाने लोग, अकेलापन व रैगिंग का डर भी काफी स्टूडेंट्स को अंदर ही अंदर डराता रहता है, जिसके कारण स्टूडेंट्स कॉलेज में अपने पहले दिन को एंजॉय नहीं कर पाते हैं। अगर आपके मन में भी इस तरह का डर है, तो घबराने की जरूरत नहीं। उन्हें बस इन 8 बातों का ख्याल रखना है और वो अपनी कॉलेज लाइफ खुल कर एंजॉय कर सकते हैं।

रैगिंग का डर छोड़ें
रैगिंग एक दंडनीय अपराध है, इस पर प्रतिबंध लगा है। हालांकि अगर रैगिंग को किसी को प्रताड़ित करने के लिए नहीं बल्कि परिचय बढ़ाने के लिए किया जाए तो यह अच्‍छा है। कई बार ऐसा होता है कि रैगिंग के दौरान हुई दोस्ती आजीवन बनी रहती है। सीनियर्स का जूनियर्स से डांस कराना, किसी की मिमिक्री करना आदि मनोरंजक दृश्य होते हैं, लेकिन इसमें हमेशा इस बात पर ध्यान दिया जाना चाहिए कि आपके कार्य से किसी के आत्मसम्मान को ठेस न पहुंचे तथा किसी भी तरह की शारीरिक क्षति न हो।

अपना कॉन्फिडेंस न खोएं
कॉलेज में पहले दिन से ही कॉन्फिडेंट रहना जरूरी है। अपने कॉन्फिडेंस को न खोंयें। हालांकि इसका मतलब यह बिल्कुल भी नहीं है कि आप घमंड में रहें और मिस्टर या मिस कॉन्फिडेंट बनने की बजाए आप मिस्टर या मिस एटीट्यूड बन जाए। कॉन्फिडेंस होने का मतलब है की आप सभी काम कॉन्फिडेंस के साथ करें। यदि आपके सिनियर्स आपको कुछ गलत करने को कहें तो उसे बिना डरे मना कर दें। इससे आप नई चुनौतियों का सामना कर पाएंगे और आप को अपने कम्फर्ट जोन से बाहर आकर काम करने का मौका मिलेगा।

आगे बढ़कर दोस्त बनाएं
आप ही की तरह कॉलेज में सैकड़ो नए स्टूडेंट्स आएंगे। ऐसे में क्लास के पहले दिन से ही सभी से बात करने की कोशिश करें। कोशिश करने पर ही आपको अपनी विचारधारा से तालमेल खाता स्टूडेंट मिलेगा। जो भविष्य में आगे चलकर आपका अच्छा दोस्त भी बन सकता है। किसी से भी बात करने में शर्माएं नहीं। जब तक आप आगे बढ़कर बात नहीं करेंगे तब तक आप सामने वाले को नहीं जान पाएंगे। इसलिए पहले दिन से ही सभी से बात करें और दोस्त बनाने की कोशिश करें।
इसे भी पढ़ें: RRB Exam Tips: आरआरबी ग्रुप डी परीक्षा से पहले जानें ये जरूरी बातें, मिलेगी मदद

समझदारी से करें आउटफिटस का चुनाव
कॉलेज का पहले दिन आपका आउटफिटस ही आपका आईना होता है। इसलिए अपने आउटफिटस का खास ख्याल रखें। कपड़े ऐसे होने चाहिए, जो बिना आपके कहे आपके व्यक्तित्व को प्रदर्शित करे। क्‍योंकि लोग कपड़ों को देखकर उसके स्वभाव का आकलन करते हैं और बात करने की कोशिश करते हैं। साथ ही आपके कपड़े आरामदायक भी होना चाहिए। अपने साथ रूमाल रखना न भूलें।

कैंपस को दें समय
कॉलेज का असली मजा कॉलेज कैंपस की मौज मस्ती में ही आता है। इसलिए जितना हो पहले दिन उतना समय कॉलेज कैंपस को जानने में बिताएं। सभी कॉलेज के अंदर ऐसे कुछ अड्डे या प्वाइंट्स जरूर होते हैं जहां आप अपने दोस्तों के साथ गप्पे मार सकते हैं व उन्हें और अच्छे से जान सकते हैं। ऐसे अड्डों व प्वाइंट्स पर आप कई नए दोस्त बना सकते हैं। साथ ही कैंपस की अच्छी नॉलेज आपको अपने फ्रेंड सर्किल में भी कूल बनाती है।

सवालों से न घबराएं
क्लास का पहला दिन भी स्टूडेंट्स के लिए टेंशन भरा होता है। आप टेंशन भूल जाइये। अगर क्लास में कुछ भी समझ न आए तो टीचर्स से बिना घबराए सवाल पूछें। सवाल पूछने से ही आपकी समस्या का समाधान होगा। साथ में इससे आपका आत्मविश्वास भी बढ़ेगा।
इसे भी पढ़ें: UGC NET 2021: कर रहे हैं यूजीसी नेट की तैयारी, तो जरूर जानें एग्जाम पैटर्न और सिलेबस

भाषा व व्यवहार का रखें ख्याल
कॉलेज में बात करते समय अपनी भाषा का खास ख्याल रखें। बिलकुल भी ऐसी बात न करें जो किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाए। ऐसी बातों से बचने की कोशिश करें जो किसी धर्म, वर्ग या राज्य के खिलाफ हो। साथ ही ऐसे शब्दों के प्रयोग से भी बचें जिनके अर्थ को तोड़ा-मरोड़ा जा सकें।

लोगों के साथ सामंजस्य
कॉलेज में ज्यादातर लोग वेशभूषा, भाषा और संस्कृति आदि में आपसे बिलकुल अलग हो सकते हैं, लेकिन पूरे सेशन में आपको उन्ही के साथ पढ़ाई करनी है। इसलिए आप उनसे तालमेल बैठाने की कोशिश करें। आप यह सोंचे कि मेरी तरह ही अन्य फ्रेशर्स भी परेशान है ऐसा सोचते ही उनके प्रति आपकी सहानुभूति बनेगी और आप बड़ी आसानी से उनकी भी समस्याओं को समझकर उनके साथ ताल मेल बना पाएंगे।

RELATED ARTICLES

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Latest News