Class 12 Board Exams 2021: क्लास 12 बोर्ड एग्जाम्स पर क्या है राज्यों का फैसला, यहां पढ़ें हर अपडेट

हाइलाइट्स:

  • 12वीं बोर्ड परीक्षा पर क्या होगा अंतिम फैसला
  • राज्य केंद्र को भेज रहे हैं सुझाव
  • सीबीएसई ने भी रखा है प्रस्ताव

Class 12 Board Exams Update: क्लास 12 बोर्ड एग्जाम्स 2021 कब और किस तरह लिये जाएंगे? कितने विषयों की परीक्षा रद्द होगी? परीक्षा होगी भी या नहीं? इन मुद्दों पर आज सभी राज्य व केंद्रशासित प्रदेशों से केंद्र के पास सुझाव भेजे जा रहे हैं। इन सुझावों के आधार पर केंद्र सरकार अंतिम निर्णय लेगी। इस निर्णय का असर न सिर्फ सीबीएसई एग्जाम्स (CBSE), बल्कि आईसीएसई बोर्ड (ICSE Board), यूपी बोर्ड एग्जाम (UP Board Exams), महाराष्ट्र बोर्ड एग्जाम (Maharashtra Board Exams), राजस्थान बोर्ड एग्जाम (RBSE Exams) समेत अन्य स्टेट बोर्ड्स पर भी होगा। किस राज्य द्वारा क्या सुझाव दिये गये हैं, इस बारे में आगे हर जानकारी दी गई है।

इससे पहले जानिये सीबीएसई व केंद्र सरकार ने 12वीं बोर्ड परीक्षा को लेकर क्या प्रस्ताव रखा है-
23 मई को हुई उच्च स्तरीय बैठक में सीबीएसई क्लास 12 एग्जाम (CBSE 12 Exam) में इस बार सिर्फ प्रमुख विषयों की परीक्षा कराये जाने का प्रस्ताव रखा गया है। साथ ही यह भी कहा गया कि ये परीक्षाएं ऑब्जेक्टिव पैटर्न पर और कम समय सीमा की हों। स्कूल्स द्वारा ही एग्जाम्स कराये जाने का भी प्रस्ताव रखा गया है। गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ और हरियाणा जैसे राज्यों ने 12वीं बोर्ड परीक्षा की डेटशीट भी जारी कर दी है। घर बैठे ही परीक्षा (class 12 board exam from home) ली जा रही है।

रिपोर्ट के अनुसार, सीबीएसई ने 15 जुलाई से 26 अगस्त के बीच 12वीं बोर्ड परीक्षा (CBSE 12th Exam date) आयोजित करने और रिजल्ट्स सितंबर में घोषित करने का प्रस्ताव रखा है। इस बार सीबीएसई 12वीं की परीक्षा में 14,30,247 स्टूडेंट्स को शामिल होना है।

12th Board Exams 2021 state wise update: क्या कह रहे हैं राज्य
Delhi: दिल्ली सरकार परीक्षा के पक्ष में नहीं है। इनका कहना है कि एग्जाम्स से पहले सभी स्टूडेंट्स और टीचर्स को वैक्सीन दी जाए। दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा है कि अगर बिना वैक्सीनेशन परीक्षा हुई, तो यह बड़ी गलती साबित होगी।

Maharashtra: वहीं, महाराष्ट्र की शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने कहा कि राज्य सरकार बिना परीक्षा रिजल्ट तैयार करने का विकल्प भी तलाश रही है। महाराष्ट्र क्लास 12 बोर्ड एग्जाम पर अंतिम निर्णय एक सप्ताह के अंदर ले लिया जाएगा।

Punjab: रिपोर्ट्स के अनुसार पंजाब शिक्षा मंत्री विजय इंदर सिंगला ने 12वीं में तीन इलेक्टिव सब्जेक्ट्स के लिए एग्जाम्स कराने का सुझाव दिया है। उनका कहना है कि स्टूडेंट्स को मेडिकल, नॉन मेडिकल और कॉमर्स के प्रोफेशनल कोर्सेस में से चुनाव करना होगा। वहीं पीएसईबी (PSEB) चेयरमैन ने बताया कि 12वीं बोर्ड परीक्षा के लिए क्वेश्चन पेपर्स और आंसरशीट्स तैयार हैं। 3.18 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स के लिए कुल 2600 परीक्षा केंद्र आवंटित किये गये हैं। एग्जाम पर अंतिम निर्णय अभी बाकी है।

Bihar: बिहार के शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी सीबीएसई क्लास 12 बोर्ड एग्जाम कराने के पक्ष में हैं। उन्होंने कहा कि यह स्टूडेंट्स के करियर और भविष्य के लिए बेहद अहम है। हालांकि मौजूदा हालात में यह संभव नहीं है। लेकिन इसकी संभावित तारीख घोषित की जा सकती है और परीक्षा ऑनलाइन मोड पर लेने का विकल्प तलाशा जा सकता है।

Karnataka and Tamil Nadu: कर्नाटक राज्य प्राथमिक व माध्यमिक शिक्षा मंत्री एस सुरेश कुमार ने भी क्लास 12 एग्जाम्स का आयोजन जरूरी बताया है। उन्होंने का कि स्टूडेंट्स के हित में यह जरूरी है। तमिलनाडु ने भी हालात सुधरने के बाद 12वीं बोर्ड परीक्षा कराने का समर्थन किया है।

Odisha: ओडिशा के शिक्षा मंत्री समीर रंजन दास ने कहा कि एग्जाम्स होंगे। या तो हालात सुधरने के बाद या फिर सिर्फ प्रमुख विषयों के लिए। राज्य में फिलहाल आने वाले तूफान यास (Yaas Cyclone) से बचाव की तैयारियों में भी जुटा है। एग्जाम्स पर जल्द अंतिम निर्णय लिया जाएगा।

Gujarat: गुजरात भी 12वीं बोर्ड परीक्षा के पक्ष में है। राज्य के शिक्षा मंत्री भूपेंद्राशीष ने कहा कि गुजरात बोर्ड (GSEB) भी उचित समय पर साइंस व अन्य विषयों के लिए 12वीं की बोर्ड परीक्षा लेगा।

Haryana: हरियाणा ने भी क्लास 12 बोर्ड एग्जाम का समर्थन किया है। हरियाणा बोर्ड 12वीं परीक्षा की डेटशीट भी जारी की जा चुकी है। बीएसईएच (BSEH) द्वारा 15 से 20 जून के बीच यह परीक्षा कराई जाएगी। स्टूडेंट्स सिर्फ प्रमुख विषयों के लिए होम सेंटर से ही एग्जाम देंगे।

Madhya Pradesh: एमपी बोर्ड जून के पहले सप्ताह में 12वीं बोर्ड परीक्षा (MP Board class 12 exam) पर फैसला लेगा। राज्य के स्कूली शिक्षा मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) इंदर सिंह परमार ने कहा कि स्टूडेंट्स की सुरक्षा व स्वास्थ्य प्राथमिकता होगी। हालांकि परीक्षा के लिए जरूरी तैयारियां पूरी की जा चुकी हैं। अगर परिस्थितियां अनुकूल रहीं तो पुराने पैटर्न पर ही परीक्षा ली जाएगी।

ये भी पढ़ें : NEET UG 2021 Exam: अगस्त नहीं, इस महीने में हो सकती है नीट यूजी परीक्षा, जानें क्या कहते हैं अधिकारी

Rajasthan: राजस्थान सरकार द्वारा इस संबंध में निर्णय होना अभी बाकी है। राजस्थान बोर्ड (RBSE) ने अभी क्लास 10 पर भी निर्णय नहीं लिया है। वहीं, दिल्ली और महाराष्ट्र के बाद अब राजस्थान सरकार ने भी 12वीं बोर्ड परीक्षा का विरोध किया है।

Uttar Pradesh: यूपी बोर्ड ने भी अब तक 10वीं और 12वीं दोनों परीक्षाओं पर कोई फैसला नहीं लिया है। शिक्षा मंत्री दिनेश शर्मा ने कहा था कि 12वीं की परीक्षा पर केंद्र के निर्णय के अनुसार फैसला लिया जाएगा। जबकि 10वीं को लेकर इसी सप्ताह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ बैठक कर अंतिम निर्णय होगा।

ABVP ने भी केंद्र को भेजा सुझाव
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् (ABVP) ने भी केंद्र सरकार को 12वीं बोर्ड परीक्षा के संबंध में सुझाव भेजे हैं। इनका कहना है कि वर्तमान हालात में शॉर्ट ड्यूरेशन एग्जाम, ओपन बुक एग्जाम, सिर्फ प्रमुख विषयों के लिए परीक्षा का रास्ता अपनाया जा सकता है। फिजिकल डिस्टेंसिंग के साथ जुलाई-अगस्त में परीक्षाएं ली जा सकती हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Latest News