CBSE 2022: सीबीएसई ने बताया- 2022 में किस हालात में कैसे बनेगा 10वीं-12वीं का रिजल्ट

हाइलाइट्स:

  • सीबीएसई ने 2022 बोर्ड एग्जाम्स के लिए जारी किया असेसमेंट पैटर्न
  • बोर्ड ने बताया- किस हालात में कैसे बनेगा 10वीं व 12वीं का रिजल्ट
  • सर्कुलर जारी कर सीबीएसई ने दी 2021-22 परीक्षा की पूरी जानकारी

CBSE 10th 12th Exams 2022: आने वाले महीनों में देश में कोरोना की क्या स्थिति होगी, इसपर फिलहाल कुछ भी स्पष्ट नहीं है। कोरोना वायरस की तीसरी लहर (Corona Virus 3rd Wave) की आशंका जताई जा रही है। हालात चाहे जो भी हों, लेकिन सीबीएसई (CBSE) ने यह तय सुनिश्चित कर दिया है कि इस बार 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा और रिजल्ट्स को लेकर स्टूडेंट्स को परेशानी न उठानी पड़े। इसके लिए नया असेसमेंट पैटर्न (CBSE assessment pattern 2021-22) तैयार किया गया है। सीबीएसई ने यह भी बता दिया है कि किस तरह के हालात में किस तरह क्लास 10 और 12 बोर्ड रिजल्ट बनेगा।

सीबीएसई ने इस साल 10वीं और 12वीं को दो टर्म्स में बांट दिया है। दोनों कक्षाओं के लिए दो टर्म एग्जाम्स होंगे। साथ ही इंटरनल असेसमेंट्स, प्रैक्टिकल्स व प्रोजेक्ट वर्क्स, आदि भी लिये जाएंगे। ये एग्जाम कब होंगे, इनका पैटर्न क्या होगा.. इसकी पूरी डीटेल जानने के लिए दिये लिंक पर क्लिक करें- CBSE Exams 2022: साल में दो बार होगी 10वीं-12वीं की परीक्षा, सिलेबस में भी कटौती

CBSE 2022: किस हालात में कैसे बनेगा रिजल्ट
1. अगर हालात सुधरते हैं और स्टूडेंट्स स्कूल या एग्जाम सेंटर पर जाकर परीक्षा दे पाते हैं तो?
बोर्ड टर्म-1 और टर्म-2 एग्जाम कराएगा। ये परीक्षाएं स्कूल्स या एग्जाम सेंटर्स पर ली जाएंगी। सभी पेपर्स के थ्योरी मार्क्स दोनों टर्म एग्जाम्स के बीच बराबर बांटे जाएंगे।

2. अगर कोविड महामारी के कारण नवंबर-दिसंबर 2021 में स्कूल्स बंद रहते हैं, लेकिन टर्म-2 एग्जाम स्कूल्स या सेंटर्स पर होते हैं, तो?
स्टूडेंट्स टर्म-1 एग्जाम (जो एमसीक्यू आधारित होगा) ऑनलाइन या ऑफलाइन मोड पर घर से ही देंगे। फाइनल रिजल्ट में इस एग्जाम के मार्क्स का वेटेज कम कर दिया जाएगा और टर्म-2 एग्जाम का वेटेज बढ़ जाएगा।

3. अगर कोरोना के कारण मार्च-अप्रैल 2022 में स्कूल्स बंद रहते हैं, लेकिन टर्म-1 एग्जाम स्कूल या सेंटर पर हो पाते हैं, तो?
टर्म-1 में स्टूडेंट्स की परफॉर्मेंस और इंटरनल असेसमेंट्स के आधार पर फाइनल रिजल्ट बनेगा। टर्म-1 एग्जाम का वेटेज बढ़ा दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें : Govt Scholarships: स्कूल स्टूडेंट्स के लिए हैं ये 5 स्कॉलरशिप्स, जानें कब और कैसे करें अप्लाई

4. अगर कोरोना के कारण स्कूल्स पूरी तरह बंद रखने पड़े और टर्म-1 और 2 दोनों एग्जाम्स स्टूडेंट्स को घर से देने पड़ें, तो?
ऐसी स्थिति में फाइनल रिजल्ट इंटरनल असेसमेंट्स, प्रैक्टिकल्स, प्रोजेक्ट वर्क और टर्म-1 और टर्म-2 थ्योरी एग्जाम्स (जो स्टूडेंट्स घर से देंगे) के आधार पर बनेगा। हालांकि घर से दिये गये एग्जाम का वेटेज उन परीक्षाओं के निरीक्षण, विश्वसनीयता और वैधता पर निर्भर करेगा।
ये भी पढ़ें : IIT without JEE: बिना JEE क्रैक किए IIT में लें एडमिशन, जानें कौन से हैं वे खास कोर्स

RELATED ARTICLES

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Latest News