CBSE 10th result: सीबीएसई ने जारी किया FAQ, इन सवाल-जवाब से समझें आपको कैसे मिलेंगे मार्क्स

हाइलाइट्स:

  • सीबीएसई ने 10वीं रिजल्ट के लिए जारी किया FAQ
  • बताया कब किसी स्टूडेंट को एबसेंट मार्क किया जा सकता है
  • 57 सवाल-जवाब से समझाया इस बार 10वीं में कैसे होगी मार्किंग

CBSE class 10 marking policy 2021: सीबीएसई 10वीं का रिजल्ट (CBSE 10th result date) जुलाई के पहले सप्ताह में जारी किया जा सकता है। बिना एग्जाम रिजल्ट कैसे बनेगा, इस बारे में बोर्ड पहले ही अपनी मार्किंग पॉलिसी बता चुका है। लेकिन इस मार्किंग स्कीम को लेकर स्टूडेंट्स के मन में कई उलझन हैं। स्टूडेंट्स, पैरेंट्स व टीचर्स के ऐसे कंफ्यूजन को दूर करने के लिए केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने अब 10वीं रिजल्ट को लेकर फ्रीक्वेंटली आस्क्ड क्वेश्चंस (FAQ) जारी किया है।

सीबीएसई ने अपनी ऑफिशियल वेबसाइट cbse.nic.in पर एफएक्यू जारी किया है। इसमें कुल 57 सवाल और उनके जवाब दिये गये हैं। ये ऐसे सवाल हैं जो आम तौर पर स्टूडेंट्स व पैरेंट्स द्वारा पूछे जा रहे हैं। जैसे –

सवाल: अगर किसी स्टूडेंट ने पूरे साल में एक भी स्कूल टेस्ट नहीं दिया है, तो उसका रिजल्ट कैसे बनेगा?
जवाब: स्कूल्स अब ऐसे स्टूडेंट्स का टेस्ट ले सकते हैं। यह टेस्ट ऑफलाइन या ऑनलाइन या फिर फोन कॉल के जरिये लिये जा सकते हैं। स्कूल्स को इस टेस्ट का प्रमाण बोर्ड को भेजना होगा।

सवाल: अगर पैरेंट्स बच्चे की टेस्ट कॉपी देखना चाहते हैं या रिजल्ट के बाद मार्क्स वेरिफाई कराना चाहते हैं, तो क्या करें?
जवाब: इस वर्ष के लिए बोर्ड ने ऐसी कोई सुविधा नहीं दी है। आप न तो टेस्ट कॉपी देख सकते हैं, न ही मार्क्स वेरिफिकेशन के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

सवाल: अगर किसी स्कूल ने एक से ज्यादा प्री बोर्ड लिये हैं, तो क्या अलग-अलग विषय के लिए अलग-अलग प्री-बोर्ड के मार्क्स लिये जा सकते हैं?
जवाब: उस स्कूल की रिजल्ट कमेटी सीबीएसई की मार्किंग पॉलिसी का ध्यान रखते हुए उचित निर्णय ले सकती है। लेकिन उन्हें बोर्ड को सौंपे जाने वाले रेशनल डॉक्यूमेंट में इसका जिक्र करना होगा।

सवाल: किन परिस्थितियों में किसी स्टूडेंट को एबसेंट मार्क किया जा सकता है?
जवाब: अगर कोई स्टूडेंट शहर में नहीं है और फोन पर भी उपलब्ध नहीं है, तो स्कूल उसे एबसेंट मार्क कर सकते हैं।
अगर स्कूल किसी ऐसे स्टूडेंट के पैरेंट्स से संपर्क नहीं कर पा रहे हैं, जो प्री बोर्ड में अनुपस्थित थे, तो उसे एबसेंट मार्क किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें : Class 12 Board Exams 2021: क्लास 12 बोर्ड एग्जाम्स पर क्या है राज्यों का फैसला, यहां पढ़ें हर अपडेट

सवाल: सीबीएसई ने अधिकतम 80 अंक पर मार्किंग करने के लिए कहा है। लेकिन अगर किसी स्कूल ने अधिकतम 30 या 50 या 70 अंकों का ही ईयर एंड एग्जाम लिया है, तो मार्किंग कैसे होगी?
जवाब: ऐसी स्थिति में नीचे बताये गये तरीके मार्क्स कैलकुलेट किये जा सकते हैं। मान लिया कि एक स्टूडेंट ने 30 में से 25 अंक प्राप्त किये हैं, तो-
Out of 50
25X50 = 1250/30 = 41.66 (42 अंक)
Out of 70
25X70 = 1750/30 = 58.33 (58 अंक)
Out of 80
25X80 = 2000/30 = 66.66 (67 अंक)

सवाल: अगर रेफरेंस ईयर में किसी अतिरिक्त विषय की परीक्षा नहीं हुई, जो इस वर्ष किसी स्टूडेंट ने ऑप्ट किया है, तो उसमें मार्क्स कैसे मिलेंगे?
जवाब: मेन 5 सब्जेक्ट्स (दो मेन लैंग्वेज, मैथ्स, साइंस और सोशल साइंट) के अलावा किसी भी लैंग्वेज या एडिशनल सब्जेक्ट (जिसकी परीक्षा उस स्कूल के रेफरेंस ईयर में नहीं हुई थी) में बेस्ट 3 सब्जेक्ट्स के मार्क्स का एवरेज निकालकर अंक दिये जाएंगे।

पूरा CBSE 10th result FAQ पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Latest News