CBSE मार्किंग स्कीम से नाराज स्टूडेंट्स: बोर्ड के 30ः30ः40 के फॉर्मूले से असंतुष्ट नजर आए स्टूडेंट्स, सोशल मीडिया पर मीम्स शेयर कर मार्किंग स्कीम को बताया गलत

  • Hindi News
  • Career
  • Students Reaction To CBSE 12th Marking Scheme| Students Appeared Dissatisfied With The Board’s 30:30:40 Formula

6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) ने 12वीं का रिजल्ट तैयार करने के लिए तय किए फॉर्मूले पर अपनी रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट में गुरुवार को पेश कर दी। बोर्ड की तरफ से तय किए गए फॉर्मूले के मुताबिक 12वीं का रिजल्ट 30ः30ः40 के फॉर्मूले के आधार पर तय किया जाएगा।

ऐसे तैयार होगा रिजल्ट

मार्किंग स्कीम की डिटेल देते हुए CBSE ने बताया कि 10वीं और 11वीं के 5 सब्जेक्ट में से जिन 3 में छात्र ने सबसे ज्यादा स्कोर किया होगा, उन्हीं को रिजल्ट तैयार करने के लिए चुना जाएगा। वहीं, 12वीं कक्षा के यूनिट, टर्म और प्रैक्टिकल में प्राप्त अंकों को रिजल्ट का आधार बनाया जाएगा।

मार्किंग स्‍कीम से असंतुष्‍ट स्‍टूडेंट्स

बोर्ड के तय किए मार्किंग स्‍कीम से स्‍टूडेंट्स ज्‍यादा संतुष्‍ट नहीं दिख रहे हैं। स्टूडेंट्स का कहना है कि रिजल्‍ट तैयार करने के लिए 11वीं के नंबरों को ज्‍यादा वेटेज दिया गया है, जबकि इसे कम वेटेज मिलना चाहिए था। स्टूडेंट्स 10वीं-12वीं की बोर्ड परीक्षाओं के लिए ज्‍यादा मेहनत करते हैं।

ऐसे में 11वीं के कम स्‍कोर होने की वजह से मार्कशीट खराब हो सकती है। असेसमेंट क्राइटेरिया से अपनी असहमति जाहिर करते हुए स्टूडेंट्स सोशल मीडिया कर कई तरह के मीम्स भी शेयर कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं…
RELATED ARTICLES

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Latest News