CAT Exam Preparation: कैट एग्जाम में करना चाहते हैं 99+ स्कोर, अपनाएं ये ट्रिक्स

हाइलाइट्स

  • CAT Exam में कैसे करें अच्छा स्कोर?
  • स्ट्रैटेजी बनाना है जरूरी
  • जानें कौन-सी टिप्स से CAT एग्जाम होगा क्लियर

Score Good In CAT Exam: कॉमन एडमिशन टेस्ट (कैट) आईआईएम द्वारा आयोजित एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है। आईआईएम या अन्य प्रतिष्ठित बिजनेस स्कूलों जैसे फैकल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (दिल्ली), शैलेश जे मेहता स्कूल ऑफ मैनेजमेंट (मुंबई), एसपी जैन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड रिसर्च (मुंबई) और कई अन्य संस्थानों में एडमिशन लेने के लिए यह एक मैनडेटरी एग्जाम है। परीक्षा हर साल नवंबर के अंतिम सप्ताह में आयोजित की जाती है। कैट 2019 का आयोजन 28 नवंबर, 2021 को किया जाएगा, तो चलिए जानते हैं जरूरी टिप्स।

अपने लक्ष्य के बारे में सोचे (Think About Your Goal)
पहले दिन से स्पष्ट रहें कि आपका लक्ष्य 99 पर्सेंटाइल स्कोर करना है। अपने लक्ष्य के बारे में दृढ़ रहें और आशावादी रहें कि आप यह स्कोर हासिल कर सकते हैं। तय करें कि आपको देश के प्रतिष्ठीत आईआईएम में एडमिशन लेना है और इसके लिए पूरी मेहनत व ईमानदारी के साथ तैयारी में लगे रहें।

मॉक टेस्ट हल करें (Solve Mock Test)
शुरुआत से ही कड़ी मेहनत करें। पूरे मन से अध्ययन करें। हर दिन कम से कम 3-4 मॉक सॉल्व करें। हर मॉक को ऐसे सॉल्व करें जैसे कि आप कैट दे रहे हों। प्रत्येक मॉक चेक के बाद गलत उत्तरों की जांच करें और ये गलतियां दोबारा न हो इसके लिए प्रैक्टिस करें। अपनी लिमिटेशन से आगे निकलें और जितना हो सके उतना मेहनत करें। उन विषयों पर मेहनत करें जो आपको कठिन लगते हैं। साथ ही उन सभी विषयों का रिवीजन करते रहें, जिनमें आप पहले से ही अच्छे हैं। प्रत्येक प्रश्न को हल करते समय उस पर पूरा फोकस करें।
इसे भी पढ़ें: Tips For Graphic Designer: ग्राफिक डिजाइनर बनने से पहले इन 5 चीजों के बारे में जरूर जानें

अपने लक्ष्य तक पहुंचने के लिए स्ट्रैटजी बनाएं (Make Strategy)
सबसे पहले परीक्षा पैटर्न के बारे में जानें। समझें कि 99 पर्सेंटाइल स्कोर करने के लिए आपको प्रत्येक सेक्शन में कितने प्रश्नों को सही करना होगा। मॉक का अभ्यास करते समय इन स्ट्रैटजी को आजमाएं। यह आपको बताएगा कि कौन सी स्ट्रैटजी अधिक सटीक है।

हर बार अपने परफॉर्मेंस को देखें (Track Your Practice)
प्रैक्टिस करने के बाद, हर बार मूल्यांकन करें कि आपने क्या किया है। अपनी गलतियों को नोट करें। इससे आपको यह जानने में मदद मिलेगी कि आप किन सेक्शन में अच्छे हैं और किन सेक्शन में अधिक प्रैक्टिस की जरूरत है। फिर उसी अनुसार ऐसे प्रश्नों की प्रैक्टिस करने के लिए योजना बनाएं और उसे फॉलो करें। अपने स्ट्रेंथ को लेकर ओवर कॉन्फिडेंट होने से बचें। अपनी वीकेनस को भी जानें और उन वीकनेस को स्ट्रेंथ में बदलने के लिए कड़ी मेहनत करें।

दबाव में न आएं (Do Not Put Yourself Under Pressure)
एक चीज जो 99 पर्सेंटाइल स्कोरर को कम पर्सेंटाइल स्कोरर से अलग करती है, वह यह है कि वे दबाव से कैसे निपटते हैं। परीक्षा के दौरान कैसी भी स्थिति हो आप अपना आपा न खोएएं। आपको धैर्य के साथ स्थिति से निपटने की जरूरत है। अक्सर, ऐसे प्रश्न होते हैं जिन्हें उम्मीदवार पहले अटेंप्ट में हल नहीं कर पाता है। ऐसी स्थिति में प्रश्न को छोड़ दें और बाकी के पेपर को हल करने के लिए आगे बढ़ें। इस तरह आप अपना समय नहीं गंवाएंगे। यदि आप घबराते हैं और उस प्रश्न को हल करने में लगे रहते हैं तो आप शायद आगे अपना पेपर पूरा नहीं कर पाएंगे। इसलिए खुद पर भरोसा रखें।
इसे भी पढ़ें: Career After Philosophy Degree: फिलॉसफी डिग्री के बाद मिलते हैं ये करियर ऑप्शन, जानें पूरी डीटेल

टाइम मैनेजमेंट करें (Time Management)
प्रॉब्लम को सॉल्व करने में तेजी लाएं। किसी विशेष प्रश्न पर ज्यादा समय बर्बाद न करें। यदि आप किसी उत्तर के बारे में सुनिश्चित नहीं हैं, तो प्रश्न को बाद के लिए रखें और यदि आपके पास अंत में समय हो तो इसे हल करें। लेकिन स्पीड के साथ हल करते समय, आप सिली मिस्टेक्स करने का जोखिम न उठाएं। कम पर्सेंटाइल का एक बड़ा कारण सिली मिस्टेक्स हैं। आपको हर सवाल के साथ अलर्ट और केयरफुल रहने की जरूरत है। प्रश्न को ठीक से समझें।

प्रैक्टिस और विश्लेषण (Practice and Analysis)
जितना हो सके उतने प्रश्नों को हल करें। नियमित प्रैक्टिस करते रहें। कहा जाता है कि अभ्यास मनुष्य को पूर्ण बनाता है, इसलिए इस विचार को मन में रखें और मॉक टेस्ट दें। उन सभी विषयों की प्रैक्टिस करें जिनमें आप पहले से ही अच्छे हैं। प्रत्येक प्रश्न को हल करते समय केयरफुल रहें और उस पर पूरा ध्यान केंद्रित करें।

RELATED ARTICLES

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Latest News