Career In Tour Manager: कैसे काम करते हैं टूर मैनेजर? जानें क्या हैं करियर स्कोप

Career In Tour Manager: अगर आपको नई-नई जगहों को देखने-घूमने का शौक है तो इतिहास-भूगोल में दिलचस्‍पी रखते हैं तो आप टूर मैनेजर के तौर पर अपना करियर बना सकते हैं। इस काम के लिए मार्केटिंग में दक्ष होना भी जरूरी है। कोरोना के कारण टूरिज्म इंडस्ट्री (tourism industry) बुरी तरह प्रभावित हुई, लेकिन अब एकबार फिर से यह इंडस्ट्री ग्रोथ कर रही है। जिसके कारण इस क्षेत्र में करियर सुनहरा है। इसलिए आप टूर मैनेजर के तौर पर अच्‍छा करियर बना सकते हैं।

टूर मैनेजर का कार्य (Tour Manager Job)
ट्रैवल एंड टूरिज्म इंडस्ट्री में टूर मैनेजर का कार्य टूरिस्‍ट के टूर को मैनेज करना होता है। इन्‍हें टूर ऑपरेटर भी कहा जाता है और कभी कभी इन्‍हें टूर गाइड का कार्य भी करना पड़ता है। ये टूरिस्‍ट के लिए दर्शनीय स्थलों तक घुमाने के लिए होलीडे पैकेज (holiday package) तैयार करते हैं और पर्यटकों की सुविधा का इस तरह ध्यान रखना पड़ता है कि उनका हर टूर यादगार बन जाए और एक टूर मैनेजर के तौर पर आप हमेशा के लिए उन्हें याद रह जाएं। एक टूर मैनेजर के तौर पर आपको यह भी तय करना होता है कि आपके काम करने का दायरा कहां तक होगा। टूर मैनेजर दुनिया के किसी भी कोने में दिलचस्प और खास जगहों पर पर्यटकों को ले जा सकते हैं। टूर मैनेजर को विभिन्न भाषाओं, इतिहास और भूगोल की अच्‍छी जानकारी बहुत जरूरी है।

टूर मैनेजर बनने के लिए योग्‍यता (eligibility criteria for a Tour Manager)

  1. टूर मैनेजर बनने के लिए किसी खास योग्‍यता की जरूरत नहीं पड़ती है। टूर मैनेजर बनने के लिए एक व्यक्ति को निम्नलिखित योग्‍यता मानदंडों को पूरा करना होता है
  2. उम्मीदवारों को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कम से कम 50% के कुल अंकों के साथ12वीं पास होना चाहिए।
  3. उम्मीदवारों के पास संबंधित क्षेत्रों जैसे एविएशन मैनेजमेंट, ट्रैवल एंड टूरिज्म मैनेजमेंट में ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए।
  4. ट्रैवल एंड टूरिज्म में IATA सर्टिफिकेट/डिप्लोमा रखने वाले उम्मीदवारों को वरीयता दी जाती है।
  5. टूरिज्म उद्योग से संबंधित कार्य में पूर्व अनुभव वाले उम्मीदवारों को प्राथमिकता दी जाती है।
  6. टूर मैनेजर बनने के लिए उम्मीदवारों के पास आवश्यक स्किल होना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: English Tips: प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए कैसे करें इंग्लिश की तैयारी, यहां जानें जरूरी टिप्स

जरूरी कोर्स (Required Course)
टूर मैनेजर बनने के लिए आप देश की विभिन्न संस्थानों से डिग्री, डिप्लोमा, पीजी डिप्लोमा (PG Diploma) व सर्टिफिकेट कोर्स कर सकते हैं। इसके प्रमुख कोर्स में शामिल हैं एडवांस डिप्लोमा इन ट्रैवल एंड टूरिज्म मैनेजमेंट, बेसिक कोर्स इन एयरलाइन ट्रैवल, फेयर्स एंड टिकटिंग मैनेजमेंट, पीजी डिप्लोमा इन टूरिज्म एंड ट्रैवल मैनेजमेंट, बैचलर ऑफ

टूर मैनेजर की जिम्मेदारियां व कार्य (Responsibilities and Functions of Tour Manager)

  • यात्रियों का स्वागत करना और उन्हें यात्रा व्यवस्था के बारे में सूचित करना।
  • बस, कार, नाव, ट्रेन या प्‍लेन से यात्रा करने वाले ग्रुप के के साथ यात्रा करना।
  • टिकट और अन्य डॉक्‍यूमेंट, पासपोर्ट, सीट असाइनमेंट और अन्‍य जरूरतों का ध्‍यान रखना।
  • टूर के दौरान टूरिस्‍ट को कार्यक्रम, स्थान और संस्कृति के बारे में सभी जानकारी देना।
  • टूरिस्‍ट को शेड्यूल के अनुसार प्रत्येक स्टॉप पर आगमन और प्रस्थान के समय के बारे में सूचित करना और यह सुनिश्चित करना कि कोई पीछे तो नहीं छूट गया।
  • सभी तरह की परिस्थितियों को संभालने का कार, जैसे- किसी बीमार को अस्‍पताल पहुंचाना, उनके परिवार को जानकारी देना।
  • टूर से जुड़े होटल, बस कंपनियों, रेस्तरां व अन्‍य लोगों के साथ लगातार संपर्क बनाए रखना, जिससे टूरिस्‍ट को दर्शनीय स्थलों, रेस्तरां व सफर के दौरान सभी सुविधाएं मिल सके।

पर्सनल स्किल्स (Personal Skills)
टूर मैनेजर बनने के लिए आपमें कई स्किल्‍स का होना जरूरी है। इसमें लैंग्‍वेज व कम्युनिकेशन स्किल सबसे जरूरी है क्योंकि यहां लोगों को अक्सर पर्यटकों से बातचीत करके उनकी जिज्ञासाओं को शांत करना होता है। वहीं आपका व्यवहार कुशल होना भी जरूरी है। अच्छी पर्सनैलिटी से फायदा होगा। क्षेत्र विशेष की भौगोलिक जानकारी भी होनी चाहिए। मैनेजेरियल लेवल की जॉब होने के कारण आप में लीडरशिप क्वॉलिटी के साथ-साथ त्वरित समस्या समाधान की क्षमता और टीमवर्क की भावना भी होनी चाहिए।
इसे भी पढ़ें: Career Tips: करना चाहते हैं डिस्‍टेंस लर्निंग? यहां जानें इसमें टॉप 10 कोर्स

करियर स्‍कोप (Career Scope)
कोर्स पूरा करने के बाद आप सरकारी के साथ निजी और मल्टीनेशनल कंपनियों में आसानी से जॉब हासिल कर सकते हैं। कुछ निजी कंपनियों जैसे कॉक्स एंड किंग्स, एयरलाइंस, ताज ग्रुप ऑफ होटल्स, मेक माई ट्रिप डॉट कॉम में नौकरियां निकलती रहती हैं। इसके अलावा पर्यटन विभाग, होटल उद्योग, एयरलाइंस और ट्रैवल एजेंसियों में आपके लिए द्वार खुले हैं।

सैलरी (Salary)
टूर मैनेजर बनने के बाद सबसे अच्‍छी बात तो यही है कि आप अपनी खुद की ट्रैवल एजेंसी शुरू कर सकते हैं। हालांकि अगर सरकारी या निजी क्षेत्र में बतौर टूर ऑपरेटर काम शुरू करते हैं तो शुरुआती तौर पर 20 से 25 हजार रूपये प्रतिमाह कमा सकते हैं।

कोर्स के लिए प्रमुख संस्‍थान

  1. मिनिस्ट्री ऑफ़ टूरिज्म, नई दिल्ली
  2. दिल्ली विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  3. बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी
  4. बैंगलोर विश्वविद्यालय, बैंगलोर
  5. मद्रास विश्वविद्यालय, चेन्नई
  6. कोलकाता विश्वविद्यालय, कोलकाता
  7. गोवा विश्वविद्यालय, पणजी
  8. मुंबई विश्वविद्यालय, मुंबई
  9. हिमाचल विश्वविद्यालय, शिमला
  10. स्काईलाइन बिजनेस स्कूल, नई दिल्ली
  11. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ ट्रेवल एंड टूरिज्म मैनेजमेंट, नई दिल्ली
RELATED ARTICLES

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Latest News