Career In Logistics: लॉजिस्टिक्स फील्ड में इस तरह बनाएं करियर, जानें कितनी योग्यता है जरूरी

Logistics Career: ईकॉमर्स कंपनी की बैक बोन लॉजिस्टिक्स मैनेजमेंट होती है, इसलिए आज के समय में ईकॉमर्स कंपनियां सबसे ज्‍यादा खर्च इसी क्षेत्र में कर रही हैं। खासकर भारत जैसे विकासशिल देशों में इस समय सबसे ज्‍यादा इन्‍वेस्‍टमेंट इसी क्षेत्र में हो रही है। कोरोना शुरू होने के साथ ही इस क्षेत्र में काफी ग्रोथ आई है। आज के समय में ज्‍यादातर लोग घर बैठे अपने आवश्‍यकताओं की पूर्ति चाहते हैं।

पिछले कुछ वर्षों से ई-कॉमर्स कंपनियां शानदान बिजनेस कर रही हैं। जिसमें लॉजिस्टिक कंपनियों की भूमिका नजरअंदाज नहीं की जा सकती। भारत की विशाल आबादी और ई-कॉमर्स कंपनियों के तेज विकास के कारण यह क्षेत्र तीव्र विकास कर रहा है। अगर विभिन्न संसाधनों की आपूर्ति और वितरण की व्यवस्था सुव्यवस्थित तरीके से नहीं हो तो आर्थिक विकास का ढांचा अस्त-व्यस्त हो सकता है। आज हम आपको पूरी जानकारी देंगे कि आप किस तरह इस बढ़ते हुए क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं।

लॉजिस्टिक्स उद्योग क्‍या है
मुख्‍यरूप से लॉजिस्टिक्स उद्योग वह क्षेत्र है जिसका कार्य सामानों की अच्छी प्रकार प्रबंधन करके उसकी सही डिलीवरी करना है। हालांकि इसमें कई अन्‍य कार्य भी आते हैं। जिसमें इन्वेंट्री मैनेजमेंट, पैकेजिंग, वेयरहाउसिंग, लेबलिंग, बिलिंग, शिपिंग, पेमेंट कलेक्शन, सामान की वापसी और एक्सचेंज आदि। जिसे पूरा करने के लिए जानकारी और अनुभव की ज़रूरत पड़ती है। इसके अलावा लॉजिस्टिक्स में प्रदेशों, सड़कों तथा सड़कों की स्थिति, माल को लाने के जाने इत्यादि के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए। वहीं लेबर मैनेजमेंट, कस्टमर को-ऑर्डिनेशनए पर्चेजिंग जैसे क्षेत्र भी लॉजिस्टिक के अंतर्गत आते हैं।
इसे भी पढ़ें: High Paid Jobs: जानें ग्रेजुएशन के बाद ऐसे डिप्‍लोमा कोर्स, जिनके बाद नौकरी होगी पक्‍की

ई-शॉपिंग के साथ हाई करियर ग्रोथ
कोरोना के साथ ही ई-कॉमर्स इंडस्ट्री में बूस्‍ट आया हुआ है। जो ग्रोथ इस इंडस्ट्री में इस समय देखा जा रहा है, वह पहले कभी नहीं देखा गया था, जो अभी भी जारी है। इस ग्रोथ के साथ यह इंडस्ट्री युवाओं के लिए बेस्ट करियर ऑप्शन के रूप में उभरी है। आज मेट्रो सिटीज से लेकर सुदूर गांव तक इंटरनेट ने ई- कॉमर्स के मार्केट की आसान पहुंच बना दी है, जिसमें सबसे बडा योगदान लॉजिस्टिक्स इंडस्ट्री का है। वहीं स्टार्टअप्स भी अपने इनोवेशन के साथ लॉजिस्टिक का फायदा उठा रहे हैं। इससे न सिर्फ एंटरप्रेन्योरशिप, बल्कि मार्केटिंग, फाइनेंस, वेयरहाउस, ग्राफिक्स के क्षेत्र में जॉब के नए अवसर पैदा हो रहे हैं।

लॉजिस्टिक्‍स उद्योग में कार्य करने की प्रक्रिया

  1. ईकॉमर्स स्टोर पर ऑर्डर प्राप्त किए जाते हैं।
  2. पेमेंट ऑप्शन प्रदान किए जाते हैं।
  3. लिस्ट तैयार की जाती है।
  4. समान की पैकेजिंग की जाती है।
  5. चालान तैयार किया जाता है।
  6. कोरियर कंपनी को पार्सल सौंपा जाता है।
  7. ऑर्डर सेंड किया जाता है।

लॉजिस्टिक्स उद्योग के फ़ायदे
जिस तरह से आज के समय में हर कोई ऑनलाइन शॉपिंग पर निर्भर हो रहा है, उससे सबसे ज्‍यादा फायदा लॉजिस्टिक्स उद्योग को हो रहा है। आज के समय में लॉजिस्टिक्स उद्योग के निम्नलिखित फ़ायदे हैं।
इसे भी पढ़ें:Career In Aviation: एविएशन इंडस्ट्री के इन जॉब प्रोफाइल में मिलती है हाई सैलरी, करियर में होती है अच्छी ग्रोथ

जॉब में ग्रोथ
कोरोना के बाद से लगभग सभी सेक्‍टर में मंदी आई है, लेकिन यह एक ऐसा सेक्‍टर है जिसमें कोरोना के बाद भी ग्रोथ देख्‍,ाने को मिल रहा है, यही कारण है कि आज भी यहां जॉब्‍स की भरमार है। यहां पर लोगों को कई प्रकार के नौकरी के अवसर मिलते हैं, जिसमें सामान की डिलीवरी करने का कार्य, सामान की पैकेजिंग, अकाउंट व ऐसे बहुत से काम के लिए ईकॉमर्स कंपनी में वर्कर रखे जाते हैं।

डिजिटलीकरण में वृद्धि (Digitalization)
लॉजिस्टिक्स उद्योग ने डिजिटलीकरण और आटोमैटिक टेक्‍नोलॉजी को बढ़ावा देने में भी अपनी एक अहम भूमिका निभाई है। पहले जहां ज्‍यादातर कंपनियां पेन और कागज़ पर निर्भर थीं अब वो भी डिजिटल हो गई हैं। जिसका सबसे बड़ा कारण लॉजिस्टिक्स उद्योग है। ऐसा होने से सबसे ज़्यादा फ़ायदा कस्टमर का होता है। और उनका विश्वास आपके ऊपर अटूट हो जाता है।

कोर्स व स्किल
इस क्षेत्र में छात्रों की उनकी शैक्षणिक योग्यता के आधार पर हर तरह का जॉब उपलब्ध है। छात्र अपनी योग्‍यता के अनुसार सर्टिफिकेट, डिप्लोमा, ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री स्तर के कोर्सेस कर सकते हैं। कई संस्थान एमबीए इन ऑपरेशंस एंड लॉजिस्टिक जैसे कोर्स संचालित करते हैं। वहीं अंडर ग्रेजुएट कोर्स तीन साल और पीजी डिप्लोमा कोर्स चार महीने से लेकर दो वर्ष तक का होता है। दसवीं के बाद भी कुछ संस्थान कोर्स करवाते हैं। इसके अलावा एमबीए कोर्स दो साल का फुल टाइम कोर्स है। ज्यादातर कोर्स डिस्टेंस एजुकेशन के जरिए कराए जाते हैं। सभी पाठ्यक्रमों में लॉजिस्टिक से संबंधित सभी पहलुओं की जानकारी दी जाती है।

कोर्स के लिए प्रमुख संस्थान

  1. इंस्टीट्यूट ऑफ लॉजिस्टिक्स एंड एविएशन मैनेजमेंट, नई दिल्ली
  2. देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी, इंदौर
  3. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मटेरियल मैनेजमेंट, नवी मुंबई
  4. एशियन काउंसिल ऑफ लॉजिस्टिक मैनेजमेंट, कोलकाता
RELATED ARTICLES

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Latest News