Career After 12th: मैथ्स के साथ कॉमर्स से की है 12वीं, तो आपके लिए बेस्ट रहेंगे ये 10 कोर्स

Best Courses After 12th Commerce: अगर हम 12वीं के बाद कॉमर्स बिना मैथ्स स्कोप की बात करें तो अकाउंटिंग और फाइनेंशियल सेक्टर में सरकारी क्षेत्र में फुलटाइम जॉब मिल सकती है। कॉमर्स स्ट्रीम में कोर्स करने वाले छात्र अत्यधिक सफल हो सकते हैं और लॉयर, कंपनी सेक्रेटरी, सांख्यिकीविद् statistician, बिजनेस एनालिस्ट और भी बहुत योग्य पदों तक पहुंच सकते हैं। बिजनेस हो या कंप्यूटर, मैथ्स ने हमारी जिंदगी को आसान बना दिया है। कॉमर्स के साथ मिलकर, यह एक बेहतर करियर विकल्प है और संभवतः इस क्षेत्र में सफलता का अनुपात किसी भी अन्य क्षेत्र की तुलना में काफी अधिक है।

मैथ्स के साथ 12वीं के बाद कॉमर्स कोर्स के लिए जॉब सेक्टर (Job Sectors For Commerce Courses After 12th with Maths)
कॉमर्स के छात्र को 12वीं पास करने के बाद इन फील्ड में नौकरी पा सकते हैं

  • बैंक (Banks)
  • एजुकेशनल इंस्टीट्यूट (Educational Institutes)
  • इनवेस्टमेंट बैंकिंग (Investment Banking)
  • मल्टीनेशनल कंपनीज (Multinational Companies)


कॉमर्स विद मैथ्स जॉब
कॉमर्स में कुछ पॉपुलर जॉब प्रोफाइल

  1. ऑडिटर (Auditor)
  2. चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर (Chief Financial Officer)
  3. बिजनेस कंसल्टेंट Business (Consultant)
  4. प्रोडक्शन मैनेजर (Production Manager)
  5. चार्टड अकाउंटेंट (Chartered Accountant)
  6. कंपनी सेक्रेटरी (Company Secretary)
  7. बजट एनालिस्ट (Budget Analyst)

इसे भी पढ़ें:Career Options after NEET: नीट के बाद सिर्फ डॉक्‍टर ही नहीं, इन क्षेत्रों में भी बना सकते हैं करियर

Career Options After 12th Commerce With Maths
“वर्तमान में, कॉमर्स अपने व्यापक कैरियर के अवसरों के कारण भारत में छात्रों के बीच सबसे पॉपुलर स्ट्रीम में एक है। वर्तमान प्रोफेशनल सिनेरियो में, मैथ्स के साथ 12 वीं कॉमर्स के बाद करियर में काफी वृद्धि हुई है। कॉमर्स से संबंधित कई प्रोफेशनल और डिग्री कोर्स हैं जिनमें मैथ्स की आवश्यकता होती है और कई प्रतिष्ठित संस्थानों द्वारा ऑफर भी किए जा रहे हैं। यहां तक कि आर्ट्स और साइंस के छात्रों के लिए भी उतने करियर विकल्प नहीं हैं जितने मैथ्स के कॉमर्स के छात्रों के पास हैं। कॉमर्स के छात्रों के लिए सबसे अच्छा लाभ यह है कि वे आर्ट्स के छात्रों की तुलना में आर्टस और कॉमर्स दोनों कोर्स के लिए योग्य (eligible) हैं।

  1. मैनेजमेंट (Management)
  2. कोस्ट एंड मैनेजमेंट अकाउंटिंग (Cost and Management Accounting)
  3. स्टॉकब्रोकिंग (Stockbroking)
  4. कॉमर्स (Commerce)
  5. चार्टेड अकाउंटेंसी (Chartered Accountancy (C.A))
  6. एक्टोरियल साइंस (Actuarial Science)
  7. इकोनॉमिक्स (Economics)
  8. कंपनी सेक्रेटरी (Company Secretary (C.S))
  9. फाइनेंस (Finance)
  10. बैंक पीओ (Bank PO)
  11. एंटरप्रेन्योरशिप (Entrepreneurship)
  12. स्टैटिस्टिक्स (Statistics)

इसे भी पढ़ें:Banking Courses: ये हैं बैंकिंग के टॉप डिमांड वाले कोर्स, जो दिलायेंगे बढ़िया जॉब

2021 में मैथ्स के साथ 12वीं कॉमर्स के बाद अन्य करियर ऑप्शन

  • एकाउंटिंग (Accounting)- इस फील्ड में छात्र सीए, आईसीडब्ल्यूए, बीकॉम (अकाउंटिंग), फाइनेंस एंड एकाउंटिंग में स्पेशलाइज्ड प्रोग्राम जैसे कोर्स कर सकते हैं।
  • सेक्रेटेरियल वर्क (Secretarial Work)- कंपनी सेक्रेटरी, सेक्रेटरी, कॉर्पोरेट सेक्रेटरी टॉप लेवल पर सीएस कोर्स का चुनाव कर सकते हैं।
  • बैंकिंग और फाइनेंस (Banking and Finance)- उम्मीदवार 12 वीं के बाद बैंक लिपिक परीक्षा (bank clerical exam) या स्नातक होने के बाद बैंक पीओ के लिए अपीयर हो सकते हैं। स्पेशल असिस्टेंट, सिंगल-विंडो ऑपरेटर, हेड कैशियर आदि के रूप में बैंकिंग नौकरियों के लिए भी आवेदन कर सकते हैं।
  • बिजनेस लॉ (Business law)- छात्र बैचलर ऑफ लॉ कोर्स के लिए जा सकते हैं और वकीलों के साथ सहयोग कर सकते हैं।
  • प्रबंधन (Management)- मैनेजमेंट क्षेत्र में अपने कौशल को स्थापित करने के लिए, कोई भी बैचलर्स मैनेजमेंट (बीएमएस) में कोर्स ले सकता है। बैचलर ऑफ बिजनेस स्टडीज (बीबीएस) या बैचलर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (बीबीए)।
  • कंप्यूटर और प्रोग्रामिंग (Computer and Programming)- कंप्यूटर में रुचि रखने वाले छात्र बी.कॉम (गणित) जैसे कोर्स कर सकते हैं। बीसीए, बी.एससी. कंप्यूटिंग और इंफॉर्मेशन सिस्टम और बाद में एक प्रोग्रामिंग कोर्स में।

RELATED ARTICLES

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Latest News