12th Board Exams 2021: सिर्फ प्रमुख विषयों के लिए होगी परीक्षा या कैंसिल होंगे एग्जाम्स? जानें राज्यों ने क्या कहा

हाइलाइट्स:

  • 12वीं बोर्ड परीक्षाओं पर फैसला जल्द
  • सभी राज्य मंत्रियों व सचिवों के साथ बैठक कर रही है केंद्र सरकार
  • सीबीएसई, आईसीएसई समेत सभी स्टेट बोर्ड्स पर होगा फैसला

Class 12 board exam 2021 update: क्लास 12 बोर्ड एग्जाम्स को लेकर देशभर के लाखों स्टूडेंट्स असमंजस की स्थिति में हैं। सिर्फ सीबीएसई (CBSE) ही नहीं, आईसीएसई बोर्ड (ICSE Board), यूपी बोर्ड (UP Board), महाराष्ट्र बोर्ड (Maharashtra Board), राजस्थान बोर्ड (RBSE) समेत सभी स्टेट बोर्ड स्टूडेंट्स को 12वीं बोर्ड परीक्षा पर सरकार के अंतिम निर्णय का इंतजार है।

आज इसी मुद्दे पर केंद्र सरकार सभी राज्यों व केंद्रशासित प्रदेशों के शिक्षा मंत्री, शिक्षा सचिव व अन्य अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक की।दिन के 11.30 बजे वर्चुअल मोड पर बैठक शुरू हुई, जो अब खत्म हो चुकी है। इसमें रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी, सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर भी मौजूद रहे। बैठक में केंद्र सरकार ने दो प्रस्ताव रखे। वहीं राज्यों ने अपना-अपना पक्ष रखा।

केंद्र का प्रस्ताव
पहला प्रस्ताव – हम 12वीं के स्टूडेंट्स का एग्जाम लें। लेकिन सिर्फ मेन सब्जेक्ट्स के। 200 में से 20 प्रमुख विषयों की परीक्षा ली जाए।
दूसरा प्रस्ताव – अगल पैटर्न पर परीक्षा लें। जिसमें स्कूल में ही एग्जाम्स हों। 3 घंटे की जगह 1.30 घंटे का ऑब्जेक्टिव टाइप एग्जाम हो। बच्चे तय करें कि वो कितने विषयों की परीक्षा देना चाहते हैं। स्कूल ही कॉपी चेक करें।

ये भी पढ़ें : CGBSE 12th Exam: कोरोना के बीच इस नये पैटर्न पर होगी छत्तीसगढ़ 12वीं की परीक्षा, अन्य बोर्ड भी अपनाएंगे ये तरीका?

राज्यों ने क्या कहा
दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने परीक्षा न कराने का पक्ष रखा है। वहीं महाराष्ट्र की स्कूली शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ (Varsha Gaikwad) ने भी ट्वीट कर कहा है कि पिछला साल स्टूडेंट्स के लिए मुश्किल भरा रहा। फिलहाल कोरोना की दूसरी लहर चल रही है और तीसरी लहर (Covid 3rd Wave) आने की भी संभावना है। वहीं कुछ राज्य परीक्षाएं कराने के पक्ष में भी हैं।

इस सबके बीच जानकारी मिली है कि सीबीएसई बोर्ड (CBSE Board) 12वीं के सिर्फ कुछ प्रमुख विषयों की परीक्षा कराने पर भी विचार कर रहा है। या तो ये परीक्षाएं बोर्ड द्वारा ऑफलाइन मोड पर जून के अंतिम सप्ताह में सामान्य तरीके से आयोजित की जाएंगी। या फिर स्कूल्स को उनके स्टूडेंट्स की परीक्षा लेने की जिम्मेदारी दी जा सकती है।

ये भी पढ़ें : University Exams 2021: बोर्ड के बाद अब यूनिवर्सटी एग्जाम्स रद्द, करीब 10 लाख स्टूडेंट्स होंगे प्रमोट

सीबीएसई सूत्रों का कहना है कि मौजूदा परिस्थितियों में परीक्षाएं आयोजित कर पाना मुश्किल है। हालांकि इस मुद्दे पर अंतिम निर्णय बैठक के बाद लिया जाएगा। इस बैठक में आने वाले एंट्रेंस एग्जाम्स, यूनिवर्सिटी एग्जाम्स व अन्य परीक्षाओं पर भी चर्चा की गई। परीक्षाएं होंगी या नहीं? किस तरह होंगी? इस बारे में जल्द सूचना दी जाएगी। दो दिन में राज्य अपना मत केंद्र सरकार को भेजेंगे।

RELATED ARTICLES

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Latest News