​NIRF Ranking 2021: जानें क्या है एनआईआरएफ? कब से और कैसे होती है रैंकिंग

हाइलाइट्स

  • एनआईआरएफ रैंकिंग 2021 जारी।
  • पांच पैरामीटर्स से तय होती कैटेगरी वाइज रैंक लिस्ट।
  • 29 सितंबर 2015 को जारी हुई थी पहली एनआईआरएफ रैंकिंग लिस्ट।

NIRF Ranking 2021: केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) ने गुरुवार (09 सितंबर 2021) को नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिग फ्रेमवर्क (NIRF) 2021 की रैंकिंग जारी की है। कोरोना के कारण पिछले साल की तरह इस बार भी ऑनलाइन कार्यक्रम में एनआईआरएफ रैंकिंग (NIRF Ranking 2021) जारी की गई।

पिछले साल एनआईआरएफ रैंकिंग 11 जून 2020 को जारी की गई थी, लेकिन इस बार कोरोना वायरस (COVID 19) संक्रमण के चलते रैंकिंग जारी होने में देरी हुई है। केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने दोपहर 12 बजे एनआईआरएफ इंडिया रैंकिंग 2021 लिस्ट जारी की है। एनआईआरएफ रैंकिंग में पिछले साल की तरह इस बार भी आईआईटी मद्रास ने ओवरऑल कैटेगरी में पहला स्थान हालिस किया है।

क्‍या है एनआईआरएफ??
भारत में प्रतिवर्ष नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिग फ्रेमवर्क (NIRF) देश की सभी टॉप यूनिवर्सिटीज, कॉलेज और अन्य शैक्षिक संस्थानों को उनके परफॉरमेंस के आधार पर रैंकिंग देने का काम करता है। इसमें देशभर की यूनिवर्सिटीज, कॉलेज और अन्य शैक्षणिक संस्थानों में शैक्षिक गुणवत्ता के साथ अन्‍य सभी पैरामीटर को मापा जाता है।

NIRF Ranking की शुरुआत कब हुई?
एनआईआरएफ द्वारा शैक्षिणक संस्‍थानों को रैंकिंग देने की शुरुआत 29 सितंबर 2015 को तत्कालीन केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री द्वारा शुरू की गई थी और 4 अप्रैल 2016 को इसने अपने रिसर्च के बाद कॉलेजों की पहली लिस्ट जारी की थी। तब से एचआरडी मंत्रालय द्वारा ये रैंकिंग जारी की जाती है।

हर साल बढ़ रही हैं रैंकिंग कैटेगरीज
हर साल एनआईआरएफ रैंकिंग में भाग लेने वाले संस्थानों की संख्या में इजाफा हुआ है। शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने खुशी जाहिर करते हुए बताया कि इस बार 6000 संस्थानों ने एनआईआरएफ के लिए आवेदन किया था। साथ ही रैंकिंग कैटेगरी भी पहले से बढ़ाई गई हैं। साल 2016 में, संस्थानों को केवल चार कैटेगरी में स्थान दिया गया था जो 2019 में बढ़कर 9 हो गई, और इस साल कुल 11 कैटेगरी में रैंकिंग दी गई है।

ये भी पढ़ें; NIRF Ranking 2021 List: ये हैं भारत के टॉप विश्वविद्यालय और महाविद्यालय, लिस्ट जारी

रैंकिंग के लिए पैरामीटर
एनआईआरएफ किसी भी संस्‍थान को रैंकिंग जारी करने के लिए 5 पैरामीटर पर मापता है। जो इस प्रकार हैं-
1. टीचिंग एंड लर्निंग
2. पर्सेप्शन
3. रिसर्च एंड प्रोफेशनल प्रैक्टिस
4. आउटरीच एंड इंक्लुसीवीटी
5. ग्रेजुएशन आउटकम

इन 11 कैटेगरी में जारी होती है रैंकिंग
एनआईआरएफ के द्वारा जो रैंकिंग जारी की जाती है उसमें शैक्षिक संस्थानों को 11 कैटेगरी में रैंकिंग दी जाती है। इसमें यूनिवर्सिटीज, इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट, फॉर्मेसी, कॉलेज, मेडिकल, लॉ, आर्किटेक्चर, रिसर्च और एआरआईआईए (नवाचार उपलब्धियों पर संस्थानों की अटल रैंकिंग) को शामिल किया जाता है। दिलचस्प बात यह है किए आईआईटी मुंबई और आईआईटी दिल्ली अंतरराष्ट्रीय रैंकिंग में शीर्ष भारतीय संस्थानों में बने हुए हैं, लेकिन एनआईआरएफ की रैंकिंग में अभी तक दोनों संस्‍थान अपनी पोजिशन नहीं हासिल कर पाए हैं।

ये भी पढ़ें; NIRF 2021 Ranking List: ये हैं भारत के टॉप 10 मेडिकल, डेंटल और फार्मेसी कॉलेज, देखें सूची

इस साल ओवरऑल कैटेगरी में देश के बेस्ट 10 संस्थान
आईआईटी मद्रास
आईआईएससी बेंगलुरु
आईआईटी बॉम्बे
आईआईटी दिल्ली
आईआईटी कानपुर
आईआईटी खड़गपुर
आईआईटी रुड़की
आईआईटी गुवाहाटी
जेएनयू, दिल्ली
बीएचयू वाराणसी

RELATED ARTICLES

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Latest News