स्वतंत्रता दिवस 2021 पर पीएम मोदी का ऐलान- देश की बेटियों के लिए खुलेंगे सैनिक स्कूल, जानें जरूरी बातें

हाइलाइट्स

  • 75वें स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी की जरूरी घोषणा।
  • देश के सभी सैनिक स्कूल में लड़कियां भी ले सकेंगी दाखिला।
  • मिजोरम कर चुके हैं पहला प्रयोग।
  • NEP 2020 को बताया गरीबी से लड़ने का साधन।

Independence Day 2021: पूरे देश में स्वतंत्रता दिवस 2021 (Independence Day 2021) उत्साह के साथ मनाया जा रहा है। 75वें स्वतंत्रता दिवस (75th Independence Day 2021) के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने देश की बेटियों के लिए बड़ी घोषणा की है। उन्होंने लाल किले की प्राचीर से राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा राष्ट्र को संबोधित किया। अपने संबोधन में पीएम मोदी ने देश की बेटियों के लिए सैनिक स्कूल के दरवाजे खोलने का ऐलान किया।

75वें स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी (PM Modi) ने आत्मानिर्भर भारत पर जोर देते हुए शिक्षा क्षेत्र के लिए कई सुधारों की भी घोषणा कर दी। उनमें से एक प्रमुख यह है कि सरकार ने लड़कियों के लिए सैनिक स्कूल (Sainik Schools) खोलने का फैसला किया है।

सभी सैनिक स्कूलों में पढ़ेंगी देश की बेटियां

लाल किले से देश को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि ढाई साल पहले मिजोरम में सैनिक स्कूलों में लड़कियों को प्रवेश देने का पहला प्रयोग किया गया था। सरकार ने अब फैसला किया है कि देश के सभी सैनिक स्कूल देश की बेटियों के लिए भी खोले जाएंगे। उन्होंने कहा, ‘लाखों बेटियों से मुझे संदेश मिलता था कि वे भी सैनिक स्कूलों में पढ़ना चाहती हैं, उनके लिए भी सैनिक स्कूलों के दरवाजे खोल दिए जाने चाहिए। मिजोरम के सैनिक स्कूल में लगभग 2-2.5 साल पहले लड़कियों को प्रवेश देने का प्रयोग पहली बार किया गया था।’ फिलहाल, भारत में 33 सैनिक स्कूल चल रहे हैं। इन सभी स्कूलों में लड़कियों को भी दाखिला मिलेगा।

‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’
अपने भाषण में पीएम मोदी ने इस बार बोर्ड परीक्षा में भारत की बेटियों के बेहतरीन प्रदर्शन की भी सराहना की। ओलंपिक में अपने प्रदर्शन के साथ समानताएं आकर्षित करते हुए, पीएम मोदी ने एक नए भारत और ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ का आह्वान किया। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि जब हम स्वतंत्रता के 100 वर्ष मनाते हैं तो हमें आत्मनिर्भर भारत के लक्ष्यों को पूरा करना होगा।

NEP 2020: गरीबी से लड़ने के लिए
पीएम मोदी ने अपने भाषण में नई शिक्षा नीति या राष्ट्रीय शिक्षा नीति (National Education Policy), एनईपी 2020 के बारे में भी बताया। उन्होंने कहा कि यह पॉलिसी, रीजनल लैंग्वेज को प्रोत्साहित करने पर ध्यान केंद्रित करके देश में गरीबी से लड़ने का एक साधन होगी। हाल ही में, सरकार ने NEP 2020 के इंप्लीमेंटेशन का 1 वर्ष भी मनाया।

ये भी पढ़ें: Independence Day 2021 Quotes: दोस्तों को ऐसे विश करें 15 अगस्त, ये हैं बेस्ट कोट्स और मैसेज

मेनस्ट्रीम में शामिल होगा स्पोर्ट्स
पीएम मोदी ने कहा, “नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति की एक और विशेष विशेषता है। इसमें खेल को एक्ट्राकरिकुलर के बजाय मेनस्ट्रीम की शिक्षा का हिस्सा बनाया गया है। उन्होंने कहा कि, खेल जीवन में आगे बढ़ने का सबसे प्रभावशाली माध्यम है।”

ये भी पढ़ें:UPSC 2022 का एग्जाम कैलेंडर जारी, देखें नोटिफिकेशन, प्रीलिम्स और मेन की डेट्स

युवाओं के लिए खुलेंगे रोजगार के अवसर
प्रधानमंत्री गतिशक्ति योजना शुरू की जाएगी। इसके तहत 100 लाख करोड़ रुपये से अधिक की योजनाएं रोजगार के अवसर पैदा करेंगी। प्रधानमंत्री गतिशक्ति- नेशनल मास्टर प्लान औद्योगिक गतिविधियों को बढ़ावा देने और ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था को दुरुस्त करने वाली होंगी। COVID-19 महामारी के कारण, इस वर्ष स्वतंत्रता दिवस समारोह में बहुत कम लोगों ने भाग लिया और पूरे समारोह में COVID-19 सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन किया गया।

RELATED ARTICLES

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Latest News