शिक्षा मंत्रालय का बड़ा ऐलान: केंद्र सरकार ने TET क्वालिफाइंग सर्टिफिकेट की वैलिडिटी बढ़ाई, अब 7 साल की बजाय आजीवन रहेगा मान्य

  • Hindi News
  • Career
  • Central Government Extended The Validity Period Of Teachers Eligibility Test (TET) Qualifying Certificate From 7 Years To Lifetime

7 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

केंद्र सरकार ने टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (TET) के क्वालिफाइंग सर्टिफिकेट का वैलिडिटी 7 साल से बढ़ाकर लाइफ टाइम कर दिया है। यानी कि अब एक बार TET पास करने पर इसका सर्टिफिकेट जीवन भर के लिए मान्य रहेगा। इस बारे में केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि, “यह टीचिंग फिल्ड में करियर बनाने के इच्छुक कैंडिडेट्स के लिए रोजगार के अवसर बढ़ाने की दिशा में एक सकारात्मक कदम होगा।

शिक्षा मंत्रालय की तरफ से जारी बयान के मुताबिक, ये फैसला 10 साल पहले से लागू किया गया है। यानी इन सालों के बीच जिनके भी प्रमाण-पत्रों की अवधि पूरी हो चुकी है, वे भी अब शिक्षक भर्ती परीक्षा के लिए एलिजिबल होंगे।

अवधि पूरी कर चुके कैंडिडेट्स को मिलेगा मौका

शिक्षा मंत्रालय ने यह भी कहा है कि जिन कैंडिडेट्स के प्रमाणपत्र की सात वर्ष की अवधि पूरी हो गई है, उनके लिए संबंधित राज्य सरकार या केंद्र शासित प्रशासन नए सिरे से TET प्रमाण पत्र जारी करने के लिए आवश्यक कार्रवाई करेंगे। यह बदलाव राष्ट्रीय शिक्षक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) के 11 फरवरी, 2011 के दिशा-निर्देशों में किया गया है, जिसके TET राज्य सरकारों द्वारा आयोजित की जाएगी और इसके प्रमाणपत्र की वैधता TET पास करने की तारीख से 7 वर्ष थी।

टीचिंग के लिए जरूरी है TET

टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट स्कूलों में शिक्षक के रूप में नियुक्ति के लिए जरूरी योग्यताओं में से एक है। इससे पहले, TET पास सर्टिफिकेट की वैधता 7 साल के लिए थी, लेकिन कैंडिडेट्स पर सर्टिफिकेट प्राप्त करने के अटेम्प्ट की संख्या पर कोई प्रतिबंध नहीं था। इसके अलावा परीक्षा पास कर चुके कैंडिडेट्स भी स्कोर में सुधार के लिए फिर से परीक्षा शामिल हो सकते थे।

खबरें और भी हैं…

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Latest News