Bihar Board: कभी नकल और लेटलतीफी के लिए बदनाम बिहार बोर्ड कैसे बना नंबर-1, अध्यक्ष को भी मिला अवॉर्ड

हाइलाइट्स:

  • साल 2015 में बोर्ड एग्जाम में नकल को लेकर हुई थी किरकिरी।
  • नकल कराने के लिए कई पुलिस वाले हुए थे सस्पेंड।
  • साल 2017 में बीएसईबी अध्यक्ष ने किए कई बदलाव।

Bihar Board Result 2021: बिहार बोर्ड (Bihar Board) 12वीं के बाद, अब 10वीं के परिणाम 2021 घोषित होने वाले हैं। बिहार स्कूल एजुकेशन बोर्ड (BSEB) पटना, सोमवार 05 अप्रैल 2021 को मैट्रिक (BSEB 10th Result 2021) रिजल्ट की घोषणा करने वाला है। परिणामों की घोषणा, राज्य शिक्षा मंत्री, अपर मुख्य सचिव शिक्षा विभाग और अन्य अधिकारियों की मौजूदगी में दोपहर 3.30 बजे की जाएगी। छात्र, बीएसईबी की आधिकारिक वेबसाइट biharboardonline.bihar.gov.in पर रिजल्ट चेक कर सकेंगे।

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनन्द किशोर ने बताया कि वार्षिक माध्यमिक परीक्षा, 2021 के परीक्षाफल की घोषणा राज्य शिक्षा विभाग मंत्री विजय कुमार चौधरी द्वारा दोपहर 03:30 बजे की जाएगी। इस दौरान, बिहार शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार भी उपस्थित रहेंगे। हालांकि, राज्य में कोरोना वायरस (covid-19) के बढ़ रहे मामलों को देखते हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन नहीं किया जाएगा।

नकल और लेटलतीफी में अव्वल था बिहार बोर्ड
साल 2015 में बिहार बोर्ड परीक्षा के दौरान वैशाली जिले में एग्जाम सेंटर की एक तस्वीर ने देशभर को सोचने पर मजबूर कर दिया था और बोर्ड की किरकिरी हुई वो अलग। यह ऐसा वक्त था जब बिहार बोर्ड, नकल और अपनी लेटतीफी के लिए सुर्खियां बटौरता था। बिहार बोर्ड टॉपर्स, मीडिया के सामने अपने विषय भी नहीं बता पाते थे। इतना ही नहीं, नकल कराने में खुद पुलिस शामिल थी जिसकी वजह से बाद में कई पुलिसवालों को सस्पेंड भी किया गया था।

साल 2017 में बोर्ड अध्यक्ष ने ली थी ये शपथ!
बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (बीएसईबी) अध्यक्ष आनंद किशोर (BSEB Chairman Anand Kishor) ने साल 2017 में बिहार बोर्ड को देश का सर्वश्रेष्ठ बोर्ड बनाने की घोषणा की थी। उन्होंने, इस काम के लिए एडवांस्ड टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया। अब एग्जामिनेश सिस्टम के मामले में बोर्ड देश का सर्वश्रेष्ठ बोर्ड बन गया है।

जानिए कैसे सुधारी छवि
बिहार टॉपर्स घोटाला, नकल की तस्वीर और कई तरह से भद पिटने के बाद, बोर्ड ने छवि सुधारने के लिए बहुत कुछ किया।
बिहार बोर्ड एक ऐसा बोर्ड बना जो, टॉपर्स की दोबार कॉपियां चेक करता है।
टॉपर्स का पर्सनल इंटरव्यू आयोजित किए जाते हैं, जिसमें छात्रों को आने-जाने का किराया दिया जाता है।
प्री-प्रिंटिड कॉपी और ओएमआरशीट पर बारकोड के साथ छात्रों की फोटो लगी।
मूल्यांकन प्रक्रिया और कंप्यूटराइज रिजल्ट तैयार करने की प्रक्रिया तेज की।
आईटी टीम ने एक सॉफ्टवेयर तैयार किया है, जो पहले से 16 गुना तेज है।
ओएमआर शीट (OMR Sheet) का मूल्यांकन भी डिजिटल रूप से किया जाता है।
साल 2021 में सभी में प्रश्नपत्रों के 10 सेट (ए से जे तक) तैयाक किए।
हर एक जिले में चार मॉडल केंद्रों बनाए, जिन्हें फूलों, गुब्बारों और कारपेटिंग से सजाया साथ ही हेल्पडेस्क की सुविधा दी।
बिहार बोर्ड ने इस साल 12वीं (इंटरमीडिएट) के 13 लाख से ज्यादा छात्रों के परिणाम मात्र 21 दिन में घोषित करके रिकॉर्ड बनाया है।

Bihar Board 10th Result 2021 Live: बिहार मैट्रिक का रिजल्ट आज, यहां देखें हर अपडेट

BSEB अध्यक्ष आनंद किशोर को मिला आउटस्टैंडिंग एजुकेशनल लीडर अवॉर्ड
IIT कानपुर टॉपरों में से एक बिहार बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर (Anand Kishor) को पिछले दो-तीन सालों में शिक्षा व्यवस्था में लगातार सुधार के लिए शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार की ओर से आउटस्टैंडिंग एजुकेशनल लीडर अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ने साल 2020 में कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी के बीच चुनौतियों से लड़ते हुए बिहार बोर्ड के परिणाम घोषित करने लिए उन्हें यह पुरस्कार दिया था। शायद बहुत कम लोग जानते होंगे कि, परीक्षा के लिए बारकोड और लिथोकोड का डिजाइन के साथ-साथ कंप्यूटराइज्ड फॉर्मेट्स का डिजाइन भी खुद बीएसईबी अध्यक्ष आनंद किशोर ने किया है।

BSEB 10th Result 2021: बिहार बोर्ड 10वीं (Matric) रिजल्ट, जानें SMS पर कैसे करें चेक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest News