एमपी बोर्ड: एकेडमिक ईयर 2020-21 में सिलेबस कम करने को लेकर असमंजस जारी, 10 नवंबर को मंडल की पाठ्यक्रम समिति की बैठक में होगा आखिरी फैसला

  • Hindi News
  • Career
  • Confusion Over Syllabus Reduction In MP Board Academic Year 2020 21, Final Decision To Be Taken On November 10 In Board’s Syllabus Committee

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

7 दिन पहले

  • कॉपी लिंक

मध्य प्रदेश एजुकेशन बोर्ड (माशिमं) ने एकेडमिक ईयर 2020-21 में होने वाली 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी शुरू कर दी है। हालांकि, बोर्ड की तरफ से अभी भी सिलेबस को लेकर फैसला लेना बाकी है। दरअसल, प्रमुख सचिव ने पहले मंडल अध्यक्ष के चार्ज में रहते हुए 30 फीसदी सिलेबस कम करने के आदेश दिए थे, लेकिन बाद में मंडल अध्यक्ष ने उसे स्थगित कर दिया। ऐसे में अब इस मामले में 10 नवंबर बैठक में आखिरी फैसला लिया जाएगा।

राज्य अभी भी बंद पड़े स्कूल

राज्य में कोरोना महामारी के प्रकोप के चलते अभी तक स्कूल नहीं खुले है। इससे पहले केंद्र सरकारी की तरफ से मिली अनलॉक की गाइडलाइन के बाद 21 सितंबर से 9वीं से 12वीं तक के स्टूडेंट्स के लिए आंशिक रूप से स्कूल खोलने की अनुमति दी गई थी। लेकिन, इनमें से भी सिर्फ 5 से 10 फीसदी स्टूडेंट्स के पैरेंट्स ने सहमित पत्र दिए थे। इस बीच ऑनलाइन क्लासेस के जरिए अभी तक 15 से 20 फीसदी ही सिलेबस पूरा हो सका है। ऐसे में पहले स्कूल शिक्षा विभाग ने भी कोर्स को कम करने के लिए पत्र लिखा था, जिस पर 10 नवंबर को फैसला होगा।

CBSE ने की 30 फीसदी की कटौती

कोरोना की वजह से पढ़ाई को हुए नुकसान को देखते हुए सीबीएसई समेत अन्य राज्यों के बोर्ड ने भी नए एकेडमिक ईयर- 2020-21 में सिलेबस कम करने का फैसला किया है। CBSE ने जहां 30 फीसदी सिलेबस कम कर पढ़ाई शुरू करने के निर्देश दे दिए थे। वहीं, राजस्थान बोर्ड ने भी इस बार 40 फीसदी सिलेबस कम करने का आदेश दिया। हालांकि, मध्य प्रदेश बोर्ड में यह अब तक संभव नहीं हो पाया है। इस बारे में अब 10 नवंबर को होने वाली मंडल की पाठ्यक्रम समिति की बैठक में आखिरी फैसला लिया जाएगा।

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest News